निपुण भारत पर कार्यशाला का आयोजन

ख़बर शेयर करें -

रामनगर-“प्रारंभिक स्तर पर बच्चों में भाषा एवं गणित की दक्षताओं को आसानी से एवं प्रभावी रूप में विकसित करने हेतु शिक्षकों को बुनियादी साक्षरता एवं संख्या ज्ञान की अवधारणा से परिचित होना होगा”।
यह विचार खंड शिक्षा अधिकारी तारा सिंह ने व्यक्त किये।

राजकीय इंटर कॉलेज रामनगर के सभागार में निपुण भारत के अंतर्गत आयोजित इस एक दिवसीय कार्यशाला में विकासखंड के ब्लॉक संदर्भ समूह के सभी प्रतिभागी एवं अजीम प्रेमजी फाउंडेशन के विशेषज्ञों द्वारा प्रतिभाग किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  लकड़ियों में लगी भीषण आग,फायर के जवानों ने कड़ी मशक्कत कर बुझाई आग

समग्र शिक्षा के ब्लॉक समन्वयक मनोज तिवारी के संचालन में आयोजित इस कार्यशाला में बुनियादी  साक्षरता एवं संख्याज्ञान (एफएलएन) पर प्रोजेक्टर एवं समूह चर्चा आदि के माध्यम से कार्य किया गया।
कार्यशाला में प्रधानाचार्य बलवंत सिंह मनराल, अजीम प्रेमजी फाउंडेशन की दीपा रानी, निशीकांत कुमार, भास्कर उप्रेती, नंदराम, मनोज कश्मीरा शंकर पांडे, सुरेश चौधरी, सुभाष गोला, ताहिर हुसैन, अनूप शाह, मनोज कुमार, सुरभि तिवारी, मधु रावत, उषा मिश्र,  संजय कुमार, सरोज सत्यवाली, शिवओम कुमार, मधु बिष्ट काजल नेगी, नवीन टम्टा, किशोरीलाल, संजीव, राखी रावत,राजेंद्र, प्रफुल्ल नैथानी, कुलदीप, सुनीता त्रिपाठी आदि ने प्रतिभाग किया।