बिनसर हादसा-जंगल में आग वन कर्मियों की मौत,सीएम धामी ने जताया गहरा दुख,चार अन्य वन कर्मियों को तत्काल एयरलिफ्ट करने के निर्देश

ख़बर शेयर करें -

बिनसर वन्यजीव विहार,अल्मोड़ा के सिविल सोयम वन प्रभाग में वनाग्नि से 4 वन कर्मियों की मृत्यु पर मुख्यमंत्री ने प्रकट किया गहरा दुःख

घटना में झुलसे चार अन्य वन कर्मियों को तत्काल एयरलिफ्ट कर हल्द्वानी बेस अस्पताल में भर्ती कराने के दिये निर्देश

मृतक वनकर्मियों के परिजनों को 10 लाख रुपये की अनुग्रह धनराशि दिए जाने के मुख्यमंत्री ने दिए निर्देश

बिनसर वन्यजीव विहार में वनाग्नि से 4 वनकर्मियों की मृत्यु पर मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने गहरा दुःख प्रकट किया है। उन्होंने इस घटना में झुलसे चार अन्य वनकर्मियों को तत्काल हल्द्वानी बेस अस्पताल में एयरलिफ्ट किये जाने के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर- सरकारी भूमि से अतिक्रमण हटाने का विरोध, जेसीबी चालक का सिर फोड़ा

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह घटना बेहद हृदयविदारक है और दुःख की इस घड़ी में पूरी उत्तराखंड सरकार वनकर्मियों के परिजनों के साथ खड़ी है। उन्होंने इस हादसे में झुलसकर घायल होने वाले चार वन्य कर्मियों को तत्काल हल्द्वानी बेस अस्पताल में एयरलिफ्ट करने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। गंभीर घायलों को आवश्यकतानुसार उपचार हेतु हल्द्वानी से एम्स ऋषिकेश एयरलिफ्ट करने के भी निर्देश मुख्यमंत्री धामी ने दिए। इसके साथ-साथ मृतकों के परिजनों को 10 लाख रुपए की अनुग्रह धनराशि दिए जाने के निर्देश मुख्यमंत्री धामी के द्वारा दिए गए।

यह भी पढ़ें 👉  बरसात से हुए नुकसान के आंकलन का आयुक्त ने लिया फीड बैक, अफसरों को दिए ये निर्देश

मुख्यमंत्री के विशेष सचिव श्री पराग मधुकर धकाते ने बताया कि घटना पर शासन पूरी नजर रखे हुए है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी के निर्देशानुसार घायल कर्मियों को एयरलिफ्ट कर हल्द्वानी अस्पताल लाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि मृतकों का आज ही पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है ।

यह भी पढ़ें 👉  मुख्यमंत्री के निर्देश- प्रत्येक 6 माह में हो राज्य स्तरीय सतर्कता और अनुश्रवण समिति की बैठक

विदित हो कि यह दुर्घटना आज दोपहर में 3.30 बजे के करीब बिनसर वन्यजीव विहार, अल्मोड़ा के सिविल सोयम वन प्रभाग में घटित हुई। बताया गया कि बोलेरो वाहन में 8 वनकर्मी सवार थे। वनाग्नि से बोलेरो वाहन में सवार 4 वन कर्मियों की आग में झुलसने से मृत्यु एवं 4 अन्य वन कर्मियों के आग से झुलसने से घायल होने की सूचना प्राप्त हुई।