घर लौट रही नाबालिग से अपहरण के बाद दुराचार, विरोध पर मारपीट

ख़बर शेयर करें -

मंगलौर। यहां अपहरण के बाद किशोरी से दुराचार का मामला प्रकाश में आया है। आरोप है कि गांव के ही युवकों ने अपहरण के बाद दुष्कर्म किया। काफी तलाश के बाद परिजनों को किशोरी उसी मकान से बदहवास अवस्था में मिली। तहरीर के आधार पर पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ अपहरण और दुराचार सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर करवाई शुरू की है। 

कोतवाली क्षेत्र के एक गांव निवासी एक व्यक्ति ने पुलिस को तहरीर देकर बताया कि एक अप्रैल को शाम करीब सात बजे उसकी 12 वर्षीय पुत्री गांव में ही अपनी सहेली के घर से वापस लौट रही थी। आरोप है कि पहले से ही घात लगाए बैठे दो आरोपियों ने मौका पाकर उसकी पुत्री अपहरण कर निकट के एक मकान में ले गए। जहां पर एक आरोपी ने किशोरी के साथ मारपीट करते हुए उसे धमकाया और दुष्कर्म किया।

यह भी पढ़ें 👉  जिलाधिकारी ने किया पोलिंग बूथों का निरीक्षण,दिये ये महत्वपूर्ण निर्देश

वहीं, दूसरे आरोपी ने कमरे को बाहर से बंद कर दिया। आरोपी ने किशोरी के साथ कई बार दुष्कर्म किया। पीड़िता रात भर घर नहीं पहुंची तो परिजनों ने संभावित स्थानों पर तलाश की। बाद में कुछ लोगों ने बताया कि उनकी पुत्री को गांव के उस मकान के आसपास देखा गया था। पीड़ित का कहना है कि जब वह वहां पर पहुंचा तो मकान के ऊपरी भाग का कमरा बाहर से बंद था। कमरा खोलते ही देखा कि पुत्री बदहवास अवस्था में पड़ी हुई थी और आरोपी भी वहां मौजूद था।

यह भी पढ़ें 👉  अवैध शराब की तस्करी करते 03 तस्करों को रामनगर पुलिस ने किया गिरफ्तार

उसे पकड़ने का प्रयास किया लेकिन, वह भाग गया। पीड़िता को उपचार के लिए सरकारी चिकित्सालय में पहुंचाया गया। इंस्पेक्टर अमरचंद शर्मा ने बताया कि पीड़ित पक्ष द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर दो नामजद आरोपियों अजय उर्फ झोझा और छांगा के खिलाफ अपहरण, दुराचार और अन्य प्रभावी धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।  बताया कि पीड़िता को मेडिकल परीक्षण के लिए भेज दिया गया है। आरोपियों की तलाश की जा रही है। जल्द ही, दोनों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।