एसटीएफ को सफलता- रद्दी के बीच में छिपाकर लायी जा रही थी नशे की सबसे बड़ी खेप, एसटीएफ ने इस तरह दबोचे शातिर

ख़बर शेयर करें -

देहरादून। एसटीएफ ने 300 किलोग्राम (तीन कुंतल) डोडा पाउडर एवं साढ़े पांच किलो अफीम के साथ 02 तस्करों को यूपी-उत्तराखण्ड बार्डर से किया गिरफ्तार किया है। तस्करों द्वारा झारखण्ड की राजधानी रांची से एक कैण्टर के जरिये माल ले जाया जा रहा था।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आयुष अग्रवाल ने जानकारी देते हुए बताया कि एसटीएफ की कुमायूँ टीम द्वारा कल थाना पुलभट्टा जनपद ऊधमसिंह नगर क्षेत्र से बलाका सिंह पुत्र कश्मीर सिंह निवासी ग्राम डलपुरा थाना गदरपुर, जनपद उधम सिंह नगर व लवजीत सिंह पुत्र मनजीत सिंह निवासी गोलू टांडा थाना स्वार जिला रामपुर उ0प्र0 को यूपी-उत्तराखण्ड बार्डर से 5.5 किग्रा अफीम व 03 कुन्तल डोडा के साथ गिरफ्तार किया गया। इस कार्यवाही में एसटीएफ द्वारा थाना पुलभट्टा पुलिस को साथ लेकर गिरफ्तारी की गयी थी। दोनों ही अन्तर्राज्यीय तस्कर हैं जो कि झारखण्ड की राजधानी राँची से एक कैण्टर के जरिये मादक पदार्थ उत्तराखण्ड ला रहे थे,जिसकी खपत रुद्रपुर, गदरपुर , बाजपुर आदि क्षेत्रों में की जानी थी। क्योंकि चुनाव व होली का टाइम है ऐसे में तस्करों को भारी मुनाफा होने की उम्मीद थी।आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि वे दोनों पेशे से ड्राइवर हैं और उत्तराखण्ड से सामान यूपी, बिहार,प0बंगाल, झारखण्ड और उड़ीसा आदि राज्यों में ले जाते हैं और वापसी में कभी-कभी मादक पदार्थों की सप्लाई ले आते हैं। इस बार वे रुद्रपुर स्थित किसी प्लाई फैक्ट्री से रांची प्लाई लेकर गये थे और वापसी में राँची से ड्रग भरकर ला रहे थे। ताकि यहाँ उसे होली व चुनाव के समय पर भारी मुनाफे पर बेच सकें। एसटीएफ द्वारा पूछताछ में अन्य कई ड्रग्स पैडलरों के नाम की जानकारी हुई है. जिन पर कार्यवाही की जायेगी। एसटीएफ की इस कार्यवाही में उ0नि0 के0जी0 मठपाल व मुख्य आरक्षी रविन्द्र बिष्ट तथा सर्विलांस में अ0उ0नि0 प्रकाश भगत की महत्वपूर्ण भूमिका रही।बरामदगी05.5 किलो अफीम व 03 कुन्तल डोडा व आयशर कैंटर वाहन संख्या UP22AT 4822वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, एसटीएफ श्री आयुष अग्रवाल द्वारा आरोपियों की गिरफ्तारी एवं बरामदगी में शामिल टीम को ₹ 25000/ के नगद पुरस्कार से पुरुस्कृत करने की घोषणा की गई है।