डीएम ने की चुनाव कार्यों की समीक्षा- नदारद कर्मचारियों पर कार्रवाई के निर्देश

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। नगर निगम सभागार में जिला निर्वाचन अधिकारी/जिलाधिकारी वंदना ने नैनीताल एवं भीमताल विधान सभाओं के जोनल एवं सेक्टर मजिस्ट्रेट,एमसीसी अनुपालन हेतु गठित टीमों तथा एआरओ की समीक्षा करते हुए लोकसभा सामान्य निवार्चन के कर्तव्यों एवं दायित्वों की जानकारी दी। 

जिलाधिकारी ने बताया कि चुनाव में जोनल, सेक्टर मजिस्ट्रेट की महत्वपूर्ण भूमिका रहती है। मजिस्ट्रेट समस्त आवश्यक व्यवस्थाओं तथा निर्वाचन प्रबंधन के लिए उत्तरदायी रहेंगे।    डीएम ने कहा कि मतदाता बिना भय, निर्विघ्न शांतिपूर्ण तरीके से अपना मतदान कर सके, इस के लिए भी जोनल व सेक्टर अधिकारी की जिम्मेदारी होगी।  जिलाधिकारी ने लोक सभा सामान्य निर्वाचन प्रशिक्षण में अनुपस्थित अधिकारियों एवं कर्मचारियों के खिलाफ कार्यवाही करने के भी निर्देश दिये। 

यह भी पढ़ें 👉  इस तरह पति ने पत्नी का कर दिया कत्ल, अस्पताल ले जाने पर पुलिस ने उठाया रहस्य से पर्दा

उन्होंने कहा कि चुनाव में सेक्टर मजिस्ट्रेट का मुख्य कार्य मतदाताओं को मतदान केन्द्र तक आने के लिए कोई प्रभावित तो नही कर रहा है साथ ही मतदाता को बूथ तक जाने में कोई  अवरोध तो नही कर रहा है, इस हेतु प्रत्येक बूथ की भेद्यता मानचित्रण की जानी है, तथा इस प्रकार की समस्याओं के निवारण हेतु कार्यवाही की जानी है । उन्होंने कहा इस प्रकार के अवरोधों को दूर करना मजिस्ट्रेट की अहम जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा सेक्टर एवं जोनल अधिकारियों का निष्पक्ष और भयमुक्त माहौल में चुनाव को सम्पन्न कराना महत्वपूर्ण भूमिका है।

यह भी पढ़ें 👉  सिद्वपीठ श्री बाला जी मन्दिर कोसी घाट के तत्वाधान मे श्री हनुमान जन्मोत्सव पर विशाल शोभायात्रा कल

 उन्होंने कहा मतदान बूथों पर मतदान सुचारू एवं सुगमता से हो इसके लिए बूथों की सभी व्यवस्थायें निरीक्षण कर सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सेक्टर मजिस्ट्रेट की जिम्मेदारी रहेगी कि मतदान केंद्र पर साफ-सफाई, स्वच्छ पेयजल, संचार तंत्र, शौचालय, वृद्धजनों हेतु रैम्प, एवं जिन बूथों के भवन आदि का भौतिक सत्यापन कर लें, और सत्यापन  रिपोर्ट सोमवार तक प्रस्तुत करना सुनिश्चित करें। प्रशिक्षण में सहायक नोडल अधिकारी एमसीएमसी विशाल मिश्रा, अपर जिलाधिकारी एफआर चौहान, एआरओ नैनीताल एवं भीमताल क्षेत्र प्रमोद कुमार, तुषार सैनी के साथ ही नैनीताल एवं भीमताल विधानसभाओं के जोनल एवं सेक्टर मजिस्ट्रेट उपस्थित थे।