रामनगर में भूमाफियाओं ने बेच दी वन विभाग की भूमि, आयुक्त ने दिए कार्रवाई के निर्देश

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। मंडलायुक्त आयुक्त दीपक रावत ने शनिवार को कैम्प कार्यालय में जनसुनवाई कर मौके पर शिकायतों का समाधान किया। जन शिकायतों में अधिकांश शिकायतें, भूमि विवाद, अतिक्रमण, विद्युत आदि से सम्बन्धित आई। जनसुनवाई में आयुक्त ने विभागीय अधिकारियों के साथ शिकायतकर्ता को तलब कर समस्याओं का मौके पर समाधान किया।

आयुक्त दीपक रावत ने कहा कि सरकारी जमीनों पर कब्जे किसी भी प्रकार के ना किये जाएं। किसी भी प्रकार की मिलीभगत पाये जाने पर दण्ड की कार्यवाही अमल में लाई जायेगी। उन्होंने आम जनता से अपील है कि जो भी भूमि क्रय करें उस भूमि के अभिलेखों की जांच अवश्य करें उसके उपरान्त ही भूमि क्रय करें। विगत दिनों जनसुनवाई में दो दिव्यांग बॉबी एवं नीरज तिवारी द्वारा मोटर ट्राई साइकिल की मांग की गई थी। प्रशासन के सहयोग से दोनों दिव्यांगों को ट्राई साइकिल दी गई दिव्यांगों ने प्रशासन एवं आयुक्त का आभार व्यक्त किया।

यह भी पढ़ें 👉  बिग ब्रेकिंग-(देहरादून) सीबीआई ने सीपीडब्ल्यूडी के सहायक अभियंता को 1,00,000/- रु. की रिश्वत स्वीकारने के दौरान किया गिरफ्तार

आयुक्त ने कहा कि सभी लोग वोट करने आयें लोकतन्त्र को मजबूत बनायें। दिव्यांग मतदाताओं के लिए पोलिंग बूथों पर सभी व्यवस्थायें उपलब्ध हों साथ ही बूथों पर कोई भी कार्य होना है शीघ्र करा लिये जांए। जिन बूथों के मार्ग ठीक नहीं है उन बूथों के मार्गों को सुगम समय से बनाया जाए। जनसुनवाई में ग्राम प्रधान लीला बिष्ट और पूर्व क्षेत्र पंचायत सदस्य अर्जुन बिष्ट के साथ ही ग्राम खेड़ा गौलापार के निवासियों द्वारा बताया गया कि गौलापार क्षेत्र की नहर में मरम्मत कार्य होने के कारण पानी की सप्लाई 20 दिनों से पूर्ण रूप से बन्द कर दी गई।

यह भी पढ़ें 👉  यहाँ पुलिस ने पकड़े मिठाई चोर,बड़ी मात्रा में चोरी करी लॉज बर्फी,डोडा बर्फी तथा रसमलाई के साथ 2 युवकों को किया गिरफ्तार

क्षेत्रवासियों ने नहर के मरम्मत कार्यों को शीघ्र कराने का अनुरोध किया। जिससे किसानों को सिचाई हेतु ससमय पानी मिल सके। जिस पर आयुक्त ने अधीक्षण अभियंता सिंचाई को शीघ्र कार्य कराने के निर्देश दिये। ग्राम हिम्मतपुर डोडियाल रामनगर में शिकायतकर्ताओं द्वारा कहा कि उनको जो जमीन बेची गई है, खतौनी की जमीन दिखाकर कब्जे की जमीन बेच दी गई जो भूमि बेची गई वह वन विभाग की भूमि है। आयुक्त ने कहा कि इस प्रकार के सभी प्रकरण लैंड फ्राड है जिन्होंने भी इस प्रकार कृत्य किया है उनके खिलाफ कार्यवाही की जायेगी।