दोबारा सत्यापन अभियान जरूरी, जनसांख्कीय परिवर्तन की साजिशों पर लगेगा विराम: भट्ट

ख़बर शेयर करें -


भाजपा 
ने सीएम पुष्कर सिंह धामी द्वारा चुनाव उपरांत पुलिस वेरिफिकेशन अभियान दोबारा शुरू करने की घोषणा का स्वागत किया है। 

प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने कहा कि जनसांख्कीय परिवर्तन की साजिशों एवं अपराध नियंत्रण के लिए यह जरूरी कदम है। साथ ही इसी वर्ष यूसीसी लागू होने के ऐलान पर उन्होंने कहा कि अब वह दिन दूर नही जब सवा करोड़ लोग एक समान क़ानून के साथ आगे बढ़ेंगे। उन्होंने लोकसभा चुनाव के बाद एक बार फिर पुरजोर तरीके से पुलिस वेरिफिकेशन अभियान चलाने को राज्य की शांति और खुशहाली के लिए जरूरी बताया है। क्योंकि राज्य निर्माण के बाद से ही विकास की संभावनाओं के मद्देनजर यहां पड़ोसी राज्यों से लोगों ने बड़े पैमाने पर रुख किया। लेकिन इनमे बड़ी संख्या ऐसे लोगों की भी रही जो गलत मंशा और अवैध तरीके से देवभूमि में निवासरत हैं। अवैध धर्मांतरण एवं अपराधों में ऐसे लोगों की सहभागिता बड़ी संख्या में पायी गई है। 

यह भी पढ़ें 👉  टैक्सी खाई में गिरने से कई लोग घायल, एसडीआरएफ ने किए रेस्क्यू

उन्होंने स्पष्ट किया कि प्रदेश के सीमित संसाधन एवं विशेष सांस्कृतिक एवं धार्मिक पहचान को संरक्षित रखना हम सबकी जिम्मेदारी है। किसी भी तरह के अवैध अतिक्रमण को अंजाम देकर, देवभूमि की आबोहवा को दूषित करने वालों को बख्शा नहीं जाना चाहिए। लिहाजा पार्टी संगठन, ऐसे लोगों की पहचान करने के लिए वृहद वैरिफिकेशन अभियान की कोशिश का समर्थन करती है। ताकि राज्य की जनसांख्कीय परिवर्तन के षड्यंत्रों और अपराधों पर लगाम पर पूरी तरह लगाम लगाया जा सके।

यह भी पढ़ें 👉  जिला सहकारी बैंक भर्ती घपले में अब होगी कार्रवाई, इतने कर्मचारियों की सेवाएं होंगी समाप्त

 उन्होंने राज्य का सांस्कृतिक एवं धार्मिक पहचान और जनसांख्कीय संतुलन बनाए रखने के लिए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह  धामी के प्रयासों की प्रशंसा की हैं। इससे पूर्व भी  सरकार ने जंगलों एवं सरकारी जमीन के ऊपर किए अतिक्रमणों को हटाने का बड़ा अभियान चलाया, जिसमे अवैध धार्मिक अतिक्रमणों के कब्जों को भी ध्वस्त कर हज़ारों एकड़ भूमि अतिक्रमण मुक्त किया गया। पुलिस वेरिफिकेशन अभियान भी राज्य सरकार पहले भी राज्य में चला चुकी है और अब उम्मीद है कि चुनाव में बाद इसे पुनः पुरजोर तरीके से चलाया जाएगा। उन्होंने यूसीसी को 2024 में ही लागू करने की घोषणा का भी स्वागत करते हुए कहा कि अब वह दिन दूर नही जब राज्य के सवा करोड़ लोग एकसमान कानून के साथ आगे बढ़ेंगे।

यह भी पढ़ें 👉  आप हैं तो मिल गया बैग हमारा,न जाने कैसा कटता आगे का सफर हमारा