महिला से की थी जमीन बेचने के नाम पर धोखाधड़ी, आयुक्त ने दिलाया न्याय

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। जमीन खरीद-फरोख्त के नाम पर धोखाधड़ी की शिकार हुई महिला को दस साल बाद न्याय मिला है। मामला संज्ञान में आने के बाद मंडलायुक्त दीपक रावत ने भूमि विक्रेता को रकम वापसी की हिदायत दी। इस पर भूमि विक्रेता ने महिला को 12 लाख की रकम लौटा दी है। इस पर महिला ने आयुक्त का आभार जताया है।

गौरतलब है कि मंडलायुक्त दीपक रावत जनसमस्याओं को काफी गंभीरता से ले रहे हैं। समस्याओं के निराकरण के लिए वह प्रत्येक शनिवार को कैंप कार्यालय में दरबार लगा रहे हैं। इसमें आने वाली अधिकांश समस्याओं का निस्तारण किया जा रहा है। इतना ही नहीं वह ‌समस्याओं पर पीड़ित के साथ ही आरोपी पक्ष को भी कार्यालय में तलब कर रहे हैं और दोनों के बीच बातचीत कराकर समाधान करा रहे हैं। ऐसे ही विगत जनता दरबार में जनसुनवाई के दौरान आयुक्त ने द्वाराहाट निवासी फरियादी देवकी अधिकारी और भूमि विक्रेता सतविंदर की समस्या के समाधान हेतु जनसुनवाई में बुलाया।

यह भी पढ़ें 👉  युवक ने मानसिक रूप से कमजोर युवती को ‌बनाया हवस का शिकार

दोनों पक्षों को सुनने के पश्चात आयुक्त ने भूमि विक्रेता सतविंदर को एक सप्ताह के भीतर फरियादी को धनराशि का इंतजाम कर खाते में अंतरित करने को कहा गया। आयुक्त कार्यालय में आये भूमि विक्रेता ने बताया कि उसने देवकी अधिकारी के खाते में 12 लाख रुपये ट्रांसफर कर दिए हैं। जिस पर 2013 से परेशान फरियादी देवकी अधिकारी ने आयुक्त का धन्यवाद दिया। गौरतलब है कि देवकी अधिकारी निवासी द्वारहाट ने वर्ष 2013 में सतविन्दर सिंह से ग्राम जयनगर तहसील रूद्रपुर में 1800 वर्ग फीट भूमि 12 लाख रूपये में क्रय की थी और धनराशि खाते में जमा की गई थी। पिछले 10 वर्षों से विक्रेता न तो 12 लाख रूपये वापस कर रहा था ना ही भूमि पर कब्जा दे रहा था। इस पर पीड़िता ने आयुक्त से 12 लाख की धनराशि वापस दिलाने की मांग की थी। जिसमें आयुक्त ने गंभीरता से लेते हुए निस्तारित करा दिया।