बिल्डर साहनी आत्महत्या प्रकरण- आरोपी अजय गुप्ता और उसके बहनोई पर फेंकी स्याही, हंगामा

ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड के दून में हुए बिल्डर साहनी आत्महत्या मामले में पुलिस शनिवार को आरोपी अजय गुप्ता और उसके बहनोई अनिल गुप्ता को कोर्ट में पेश करने लाई। जहां कोर्ट के बाहर जमकर हंगामा हुआ। इस बीच दोनों आरोपियों पर स्याही फेंकी गई। 

 न्यायालय परिसर के बाहर अजय गुप्ता और उसके बहनोई पर स्याही फेंकी गई। सूरज सेवा दल के नेता रमेश जोशी व कार्यकर्ताओं ने इस दौरान यहां जमकर हंगामा किया। मजिस्ट्रेट कोर्ट में आज यानि शनिवार को बिल्डर बाबा साहनी मामले में सुनवाई होनी है। बिल्डर बाबा साहनी को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोपी अजय गुप्ता व उसके बहनोई अनिल गुप्ता की जमानत न्यायालय ने नामंजूर कर दिया था। दोनों की जमानत अर्जी पर बचाव और अभियोजन पक्ष में जोरदार बहस हुई थी।

यह भी पढ़ें 👉  यहां कराई जा रही थी नाबालिग की शादी, पुलिस ने तत्परता से रूकाई

 इस दौरान बचाव पक्ष के तर्कों को खारिज करते हुए न्यायालय ने जमानत देने से इन्कार कर दिया। बचाव पक्ष ने आरोप लगाए कि अजय गुप्ता बीमार हैं लेकिन जेल में उन्हें मेडिकल सुविधा नहीं दी जा रही है। इस पर न्यायालय ने जेल प्रशासन से रिपोर्ट मांगी थी। बाबा साहनी ने रिहायशी बिल्डिंग के आठवें फ्लोर से कूदकर आत्महत्या कर ली थी। साहनी के पास से मिले सुसाइड नोट के आधार पर अजय गुप्ता और उसके बहनोई को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था।

यह भी पढ़ें 👉  एसएसपी ने कैंची मेला सकुशल सम्पन्न होने पर एसएसपी ने व्यक्त किया आभार

 आरोप था कि रिहायशी प्रोजेक्ट बनाने में जो गुप्ता ने हिस्सेदारी की थी अब उसके बदले वह पूरा प्रोजेक्ट ही अपने नाम कराना चाहता था। ऐसे में दबाव में आकर साहनी ने यह आत्मघाती कदम उठा लिया। पुलिस ने गुप्ता और उसके बहनोई को अदालत में पेश किया, जिन्हें अदालत ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया था।