मां-बेटा हत्याकांड का खुलासा, पुलिस ने दरोगा समेत तीन आरोपियों को किया गिरफ्तार

ख़बर शेयर करें -

हरिद्वार। 20 लाख रुपए की खातिर एक दरोगा ने अपने साथियों के साथ मिल कर दृष्टिहीन महिला और उसके बेटे को मौत के घाट उतारा था। पुलिस टीम ने हत्यारोपी दरोगा सहित हत्याकांड में शामिल तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर इस ब्लाइंड हत्याकांड का पर्दाफाश कर दिया है। 

हरिद्वार पुलिस कप्तान प्रमेन्द्र सिंह डोबाल ने बताया कि झबरेड़ा थाना क्षेत्र  मे एक नाले से  एक अज्ञात युवक का शव बरामद हुआ था। झबरेड़ा पुलिस ने शव के पंचायतनामें की कार्यवाही करने के साथ ही युवक की पहचान के प्रयास शुरु कर दिये थे। मृतक की कमीज पर अंकित टेलर के टैग/ विजिटिंग कार्ड की पड़ताल करते हुए पुलिस टीम पहले टेलर और उसके बाद मृतक के बताए जा रहे घर पर पहुंची तो जानकारी मिली कि मृतक की मां ने बीते वर्ष दिसंबर माह में  एक मकान की रजिस्ट्री 20 लाख रुपए में कर कुछ दिन पहले ही नए मकान मालिक को कब्जा दे दिया था।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी-(बिग ब्रेकिंग) जिले मे 2 करोड 12 लाख की नगदी,शराब,ड्रग एवं अन्य बहुमूल्य धातु जब्त

कब्जा देने के बाद मृतक और मृतक की दृष्टिहीन माता कुछ अन्य लोगों के साथ वहां से चली गई थी। नए मकान मालिक से मिले संदिग्ध मोबाइल नम्बर के आधार पर मृतक की मां की पहचान की गई तो सारा मामला धीरे-धीरे खुलकर पूरी तरह से सामने आ गया। सबूतों के आधार पर पुलिस टीम ने इस हत्याकांड को अंजाम देने में शामिल पुलिस लाइन रोशनाबाद हरिद्वार में तैनात दरोगा व दो अन्य को धर दबोचा है। प्रकरण में अन्य की संलिप्तता की पड़ताल करते हुए पुलिस टीम पकड़ में आए हत्यारोपियों से पूछताछ के आधार पर महिला का शव बरामद करने का प्रयास कर रही है जो हत्यारोपियों के मुताबिक उन्होंने उसके बेटे के शव से अलग कहीं दूर फेंका था।