फर्जी फर्म बनाकर निवेश का देते थे झांसा, फिर लोगों को बनाते थे शिकार, दो शातिर गिरफ्तार

ख़बर शेयर करें -

देहरादून। एसटीएफ ने ठगी करने के आरोप में दो लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। इन ठगों ने करीब 80लाख की ठगी की। इनके कब्जे से 3 हजार मोबाइल सिम बरामद किए गए हैं।

एसटीएफ एसएसपी आयुष अग्रवाल के अनुसार, देहरादून के एक व्यक्ति ने बताया था कि उसे सोशल मीडिया के जरिये एक ग्रुप में जोड़ा गया। इस ग्रुप में स्टॉक ट्रेडिंग की जानकारी दी जा रही थी। इसके बाद कुछ लोगों ने उनसे संपर्क किया और खुद को एक कंपनी का कर्मचारी बताया। उनके मोबाइल पर एक ऐप डाउनलोड कराई और निवेश के नाम पर 80 लाख की धोखाधड़ी की गई। एसटीएफ ने नंबरों की जांच की तो मुदस्सिर मिर्जा पुत्र जुबैर मिर्जा निवासी दिल्ली का नाम सामने आया।

यह भी पढ़ें 👉  मामूली बात पर हुए विवाद में  युवक ने दोस्त पर झोंका फायर, हालत गंभीर

एसटीएफ ने कुछ समय पहले उसे दिल्ली से गिरफ्तार किया। उसके कब्जे से तीन हजार मोबाइल सिम बरामद हुए थे। मुदस्सिर से पूछताछ में दो और आरोपियों का पता चला। पुलिस ने आरोपी दीपक अग्रवाल निवासी विश्वासनगर दिल्ली और गौरव गुप्ता पुत्र निवासी सकरपुर दिल्ली को दिल्ली से गिरफ्तार किया। इन आरोपियों के कब्जे से लैपटॉप, डेबिड कार्ड और चेकबुक बरामद की गई। वह फर्जी फर्म बनाकर स्टॉक एक्सचेंज में निवेश का झांसा देकर ठगी करते थे। पकड़े गए आरोपी विभिन्न राज्यों में इस तरह की धोखाधड़ी कर चुके हैं पुलिस अब गैंग का पता करने के लिए छानबीन में जुटी हुई है।