उत्तराखंड में लगातार तीसरी बार पांचों सीटें जीती भाजपा

ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड में भाजपा की जीत की हैट्रिक से कांग्रेस को लगातार तीसरी बार हार का सामना करना पड़ रहा है। इस बार के चुनाव में कांग्रेस भाजपा के आसपास भी नजर नहीं आई। हालांकि टिहरी सीट से निर्दलीय प्रत्याशी बॉबी पवार ने अच्छी टक्कर दी।

इस बार के लोकसभा चुनाव में भाजपा के कई दिग्गज नेताओं का सियासी कॅरियर भी दांव पर लगा था। खासकर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट की साख भी दांव पर लगी थी। वहीं कांग्रेस की हार के बाद अब उत्तराखंड में पूर्व सीएम हरीश रावत की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

यह भी पढ़ें 👉  जिला सहकारी बैंक भर्ती घपले में अब होगी कार्रवाई, इतने कर्मचारियों की सेवाएं होंगी समाप्त

  नैनीताल ऊधम सिंह नगर संसदीय सीट से पार्टी प्रत्याशी अजय भट्ट ने बंपर वोटों से जीत हासिल की है। उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी प्रकाश जोशी को बड़े अंतर से हराया है। वहीं अल्मोड़ा सीट पर अजय टम्टा ने जीत की हैट्रिक लगाई है। इस बार भी अल्मोड़ा-पिथौरागढ़ संसदीय क्षेत्र की जनता ने उन पर भरोसा जताया। इस सीट पर अजय टम्टा काफी अंतर से विजयी हुए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  गढ़वाल लोकसभा से नवनिर्वाचित सांसद एवं भाजपा के राष्ट्रीय मीडिया प्रमुख अनिल बलूनी ने मेदांता अस्पताल दिल्ली में स्वास्थ्य लाभ ले रही केदारनाथ की विधायक श्रीमती शैलारानी रावत से की मुलाकात

इधर, हरिद्वार संसदीय सीट पर निवर्तमान सांसद डा. रमेश पोखरियाल निशंक ने अपने रणनीतिक कौशल से त्रिवेंद्र की जीत का रास्ता प्रशस्त कर दिया। क्योंकि हरिद्वार लोकसभा की ज्यादातर विधानसभा सीटें कांग्रेस के कब्जे में हैं। यहां पर उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत के पुत्र वीरेंद्र रावत चुनाव मैदान थे।