संजय ने बनायी मिट्टी से भगतसिंह की मूर्ति,सोशल मीडिया पर छाया,शिक्षा मंत्री ने किया सम्मानित……….

ख़बर शेयर करें -

रामनगर-राजकीय इंटर कालेज ढेला के कक्षा सात में पढ़ने वाले संजय बिष्ट ने अपने खेत की मिट्टी से भगतसिंह की मूर्ति बनाई।आज रामनगर पहुंचे शिक्षा मंत्री डा धनसिंह रावत ने स्थानीय विधायक दीवान सिंह बिष्ट की मोजुदगी में संजय की पीठ थपथपाते हुए उसे माला पहना सम्मानित किया, और उपहार भी प्रदान किए।

ढेला निवासी दीपा बिष्ट,गोपाल सिंह बिष्ट के चार बच्चे हैं।संजय दूसरे नंबर का है।पिता होटल में एक सामान्य कर्मचारी हैं जबकि मां गृहणी हैं।ढेला इंटर कालेज के शिक्षक नवेंदु मठपाल के अनुसार एक माह पूर्व उन्होंने संजय द्वारा बनाई गई गाय की एक छोटी सी मूर्ति देखी थी,इसलिए भगतसिंह जयंती की पूर्व संध्या पर उन्होंने संजय से भगतसिंह की मूर्ति बना कर लाने को कहा।

यह भी पढ़ें 👉  शैक्षणिक कैलेंडर अनिवार्य रूप से लागू करें विश्वविद्यालयः डॉ. धन सिंह रावत

संजय के शिक्षक और उसको मूर्ति कला के लिए प्रेरित करने वाले नवेंदु मठपाल ने जब इस मूर्ति का सोशल मीडिया पर जिक्र किया तो..कला समीक्षक सुरेश लाल लिखते हैं,”वाह ! सातवीं कक्षा में ढेला इंटर कॉलेज में पढ़ने वाले एक विद्यार्थी ने शहीद भगत सिंह की मूर्ति बनाई है, जानकर अकल्पनीय सा लगा। लेकिन गांव की मिट्टी से एक गांव के बेटे ने ये प्रयास किया और सुंदर मूर्ति बनाई है , बिना किसी उचित सामग्री, टूल्स व मार्ग दर्शन के इसमें कई त्रुटियां रह जाना स्वाभाविक था जैसे भगत सिंह का चेहरा उतना नहीं मिल पाया।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर- हल्द्वानी से पहाड़ जाने के लिए अंडरपास बनाने की योजना, निरीक्षण

लेकिन उन्होंने फिर भी मूर्ति बनाने का साहस कर इसे साकार किया ये उनकी मेहनत और लगन और कुछ कर गुजरने की महत्वाकांक्षा को दर्शाता है।में उनको इस प्रथम प्रयास के लिए बधाई देता हूं और वे कला के क्षेत्र में यही लगन और अभ्यास जारी रखें,उनको उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं देता हूं।
नैनीताल की विधायक श्रीमती सरिता आर्य ने लिखा,”बहुत सुंदर,उज्ज्वल भविष्य की कामना” ।मुख्य शिक्षा अधिकारी टिहरी श्री एस पी सेमवाल लिखते हैं,”वाह,गजब,खेत की मिट्टी से इतने सुंदर भगतसिंह”।दिल्ली विश्विद्यालय में हिंदी विभाग के प्रोफेसर आशुतोष कुमार लिखते हैं”वाह,जल्दी ही आता हूं तुमसे मिलने दोस्त”दीपा बिष्ट,गोपाल सिंह बिष्ट के चार बच्चे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  रामनगर पहुंचने पर सोमांश से मिलने पहुंचे कई अकेडमीयों के बच्चे

संजय दूसरे नंबर का है।पिता होटल में एक सामान्य कर्मचारी हैं जबकि मां गृहणी हैं।ढेला इंटर कालेज के शिक्षक नवेंदु मठपाल के अनुसार एक माह पूर्व उन्होंने संजय द्वारा बनाई गई गाय की एक छोटी सी मूर्ति देखी थी,इसलिए भगतसिंह जयंती की पूर्व संध्या पर उन्होंने संजय से भगतसिंह की मूर्ति बना कर लाने को कहा।संजय को विद्यालय की ओर से भीं सम्मानित किया गया।