सफलता- एसटीएफ ने ध्वस्त किया अवैध हथियारों का बड़ा नेटवर्क, डीलर गिरफ्तार

ख़बर शेयर करें -

रुद्रपुर। स्पेशल टास्क फोर्स ( एसटीएफ) ने अवैध हथियार तस्करों के खिलाफ जबरदस्त स्ट्राइक की है। अवैध हथियारों का बड़ा नेटवर्क ध्वस्त कर दिया है। ऊधमसिंह नगर जिले के एक बड़े आर्म्स डीलर को गिरफ्तार किया है। यह डीलर उत्तराखण्ड समेत समूचे उत्तर प्रदेश में अवैध असलाहों की तस्करी करता था। इसके कब्जे से 2 देशी शार्टगन / पौनिया, 3 तंमचे बरामद किए गए हैं।

एसएसपी एसटीएफ आयुष अग्रवाल के अवैध हथियारों के तस्करों के विरुद्ध कार्यवाही के आदेश के क्रम में सीओ एसटीएफ कुमाऊं सुमित पांडे की ओर से गठित एसटीएफ व थाना गदरपुर पुलिस ने एक ज्वांइट ऑप्रेशन के तहत बड़ी कार्रवाई की है। शुक्रवार की देर शाम थाना गदरपुर क्षेत्रान्तर्गत ग्राम खुशहालपुर के एक घर से भारी मात्रा में अवैध असलहे बरामद करते हुए एक आर्म्स डीलर वचन सिंह पुत्र हजुर सिंह निवासी ग्राम खुशहालपुर थाना गदरपुर जनपद ऊधमसिंह नगर को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार अभियुक्त के विरुद्ध कल रात्रि थाना गदरपुर में धारा 3/25 के तहत मुकदमा पंजीकृत कराया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  हूटर का शोर मचाना थार चालक को पड़ा भारी,फिर

गिरफ्तार तस्कर तस्कर वचन सिंह जो कि इन अवैध हथियारों को बनाने तथा मरम्मत का कार्य भी करता है पिछले करीब 20 वर्षों से अवैध हथियारों के काले कारोबार में लगा था, की सूचना एसटीएफ को मिली थी तब से एसटीएफ की एक टीम इसके ठिकानों में नजर रख रही थी। कल टीम को गोपनीय इनपुट मिला था कि वचन सिंह के घर में हथियारों की बड़ी खेप आयी है जिसपर टीम द्वारा उसके घर को चारों तरफ से घेरकर रेड की गयी तो घर के अन्दर से भारी मात्रा में अवैध हथियार बरामद हुए तथा घर में मौजूद वचन सिंह को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार अपराधी ने पूछताछ में एसटीएफ को बताया कि वह वर्ष 2003 से हथियारों की तस्करी कर रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  दुःखद- यहां खाई में जा गिरी पिकप, चालक की हुई मौत

वह उ0प्र0, उत्तराखण्ड, हरियाणा और पंजाब आदि राज्यों में सप्लाई करता आ रहा है। साथ ही वह और उसके साथी कलकत्ती जंगल में, जो कि उ0प्र0 में स्थित हैं, वहाँ असलहों को बनाते आ रहे हैं। उनके बने असहलों की उ0प्र0 में बहुत डिमांड है। इसके द्वारा अब तक करीब 1000 अवैध बन्दूकों व तंमचों की तस्करी उ0प्र0 व उससे लगे राज्यों में की जा चुकी है। एसटीएफ की इस कार्यवाही में मुख्य आरक्षी रविन्द्र सिंह बिष्ट की विशेष भूमिका रही। टीम में निरीक्षक एमपी सिंह, उपनिरीक्षक केजीमठपाल,बृजभूषण गुरुरानी, अपर उपनिरीक्षक प्रकाश भगत,मुख्य आरक्षी रविंद्र बिष्ट,मुख्य आरक्षी जगपाल सिंह,मुख्य आरक्षी दुर्गा सिंह,मुख्य आरक्षी किशोर कुमार,आरक्षी मोहित वर्मा,आरक्षी गुरवंत सिंह,आरक्षी सुरेन्द्र कनवाल (सर्विंलांस), थाना गदरपुर पुलिस टीम के उपनिरीक्षक महेश चन्द्र,आरक्षी संजीव कुमार मौजूद थे।