Corbet Tiger Reserve- गजराज हाथी के हमले से घायल (चंचल) हथिनी की उपचार के दौरान मौत

ख़बर शेयर करें -

Corbett Tiger Reserve-कार्बेट टाइगर रिजर्व के अन्तर्गत कालागढ रेंज स्थित हाथीशाला में (चंचल) हथिनी जो वयस्क थी। जिसकी उम्र 51 वर्ष की थी। दिनांक 21.05.2024 को गजराज हाथी द्वारा चंचल हथिनी पर हमला किया गया था। जिससे चंचल हथिनी का पिछला बांया पैर अन्दर की ओर मुड़ गया था। जिससे वह चलने में असमर्थ हो गयी थी।

हथिनी के शरीर पर अन्य जगह भी गम्भीर (गहरे गहरे) घाव/चोटें आयी थीं। जिसका लम्बे समय से पशु चिकित्साधिकारियों की देख-रेख में उपचार किया जा रहा था। उपचार के दौरान दिनांक 17.06.2024 को प्रातः लगभग 02.30 बजे (चंचल) हथिनी की मृत्यु हो गयी।

यह भी पढ़ें 👉  सोशल मीडिया में प्रसारित कर दिया बादल फटने का फर्जी वीडियो, डीएम सख्त

विभागीय अधिकारियों की उपस्थिति में निर्धारित नियमानुसार (चंचल) हथिनी का शव विच्छेदन करवाया गया। विसरा व आंतरिक अंगो के सैम्पल को परीक्षण हेतु आई०वी०आर०आई० इज्जतनगर, बरेली भेजा गया है।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर-उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने इस भर्ती परीक्षा का परिणाम किया जारी,ऐसे करें चेक

इस दौरान मौके पर दिगन्ध नायक, उप निदेशक, कार्बेट टाइगर रिजर्व, रामनगर (नैनीताल), डा० शालिनी जोशी, उप प्रभागीय वनाधिकारी, कालागढ, मनीष जोशी, सहायक वन संरक्षक, डॉ० हिमांशु पांगती, वरिष्ठ पशुचिकित्साधिकारी, डॉ० राहुल सती, वरिष्ठ पशु चिकित्साधिकारी, डॉ० आयुष उनियाल, पशु चिकित्साधिकारी, नन्द किशोर रूवाली, वन क्षेत्राधिकारी, कालागढ तथा स्थानीय एन०जी०ओ० के सदस्य  विरेन्द्र अग्रवाल, वाइल्ड लाईफ वेलफेयर फाउण्डेशन व प्रकाश चन्द्र मठपाल, वन दरोगा, हाथी कैम्प प्रभारी आदि उपस्थित रहे।