पहले ऐंठ ली लाखों की रकम, फिर प्लाट दिलाने के नाम पर गिरवी रखे जेवरात, अब बना रहे यह दबाव

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। धोखाधड़ी से पैसे और जेवर हड़पने का मामला सामने आया है। पीडि़त ने पुलिस से आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

राजकीय कन्या इंटर कालेज लाइन नंबर 17 बनभूलपुरा निवासी उसमान पुत्र अस्तर अली ने पुलिस को दी तहरीर में कहा है कि उनके पुराने परिचित मो. युसूफ पुत्र मो. सुलेमान व उसकी पत्नी शबाना मो. नदीम निवासी हमिलाय स्कूल गौजाजाली के मकान में किराए पर रहते हैं। उन्होंनें अपनी पारिवारिक मजबूरी बताकर उससे 4 लाख 30 हजार रूपए लिए थे और जल्द ही लौटाने का भरोसा दिलाया था। लेकिन अब टाला मटोली की जा रही है। इसके बाद उन्होंने मामले की जानकारी रिश्तेदारों को भी दी। इसी दौरान उनकी पुत्री अर्शी जिसका ब्याह बिलारी मुरादाबाद में हुआ है वह भी घर आई थी।

यह भी पढ़ें 👉  बनभूलपुरा दंगा- घटना के मास्टर माइंड अब्दुल मलिक और बेटे के पोस्टर सीमाओं पर हुए चस्पा

उसने बताया कि शबाना और उसके पति ने किच्छा में प्लाट लेने की बात कहते हुए पैसों की कमी का हवाला दिया। शबाना और उसके पति ने उससे अपने जेवर गिरवी रखने की बात कही। जिसके बाद उसने 3 लाख 69 हजार उन्हें दे दिए। आरोप है कि अब वह रकम भी लौटा नहीं लौटा रहे हैं और ना ही गिरवी रखा सोना ही छुड़ा रहे हैं। जब अर्शी के जेवर लौटाने की बात कही गई तो शबाना और उसके पति ने शर्त थोप दी। उनका पहले का कोई भी लेन देन नहीं है। बैंक और एक फाइनेंस कंपनी में गए तो बैंक मैनेजर ने भी उन पर शबना और उसके पति की शर्त मानने के लिए दबाव बनाना शुरू कर दिया। पीडि़त ने मामले की तहरीर पुलिस को देकर कार्रवाई की मांग की है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।