नाबालिग को वाहन देना पड़ा महंगा, पुलिस ने स्कूटी सीज कर किया 25 हजार का चालान

ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड में नाबालिगों के वाहनों के फर्राटा भरने के मामले अब आम हो चले हैं। इस पर पुलिस भी सख्त हो गई है। इस बीच बागेश्वर पुलिस ने एक नाबालिग को स्कूटी चलाते पकड़ लिया। वह महज 14 साल का था। स्कूटी सीज करने के साथ ही परिजनों के हाथ में पुलिस ने 25 हजार का चालान थमा दिया।  

पुलिस अधीक्षक बागेश्वर अक्षय प्रहलाद कोण्डे आईपीएस के आदेशानुसार, जनपद क्षेत्रान्तर्गत नाबालिक वाहन चालकों व शराब के नशे में वाहन चलाने, यातायात नियमों का पालन न करने वाले चालकों के विरूद्ध चलाये जा रहे विशेष चैकिंग अभियान के दृष्टिगत उप निरीक्षक जीवन सिंह सामंत द्वारा थाना बैजनाथ क्षेत्रान्तर्गत वाहन चेकिंग के दौरान गरुड़ बाजार में खतरनाक तरीके से वाहन चलाने पर स्कूटी को रोका तो चैक करने पर पाया कि वाहन चालक मात्र 14 वर्ष का नाबालिक था।

यह भी पढ़ें 👉  नीट परीक्षा में गड़बड़ी मामले में एनटीए को सुप्रीम कोर्ट की फटकार, नोटिस जारी

 जिस पर मौके पर वाहन चालक के माता पिता एवं वाहन स्वामी को बुलाकर, नाबालिक वाहन चालक को उसके माता पिता के सुपुर्द किया गया। वाहन स्वामी का नाबालिक को वाहन देने पर 25000 रुपये  का चालान कर वाहन स्कूटी को सीज किया गया। अभिभावक को मोटर वाहन अधिनियम के प्रावधानों के बारे में जानकारी देते हुए सख्त निर्देश दिए गए कि भविष्य में अपने नाबालिक बच्चों को वाहन ना दें। 

यह भी पढ़ें 👉   दुःखद- एक युवक को बचाने के प्रयास में दूसरा भी डूबा, हुई मौत

बागेश्वर पुलिस का समस्त जनता से अनुरोध है कि अपने नाबालिग बच्चों को वाहन न चलाने दें कोई भी नाबालिक वाहन चलाते हुए पाया जायेगा तो सम्बन्धित अभिभावक या वाहन स्वामी के विरूद्ध भी मोटर वाहन अधिनियम की सुसंगत धाराओं के अन्तर्गत कार्यवाही अमल में लाई जायेगी।