बनभूलपुरा हिंसा- अब्दुल मलिक के पुत्र मोईद को पुलिस ने इस इलाके से किया गिरफ्तार

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। बनभूलपुरा दंगे के मामले में पुलिस के हाथ एक और बड़ी सफलता लगी है। पुलिस ने मास्टरमाइंड अब्दुल मलिक का बेटा अब्दुल मोईद को उत्तराखंड पुलिस ने दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया है।

बताते चलें कि आठ फरवरी को बनभूलपुरा के मलिक का बगीचा में अवैध धार्मिक स्थल ध्वस्त करने के ‌दौरान हिंसा भड़क उठी थी। उपद्रवियों ने पथराव करते हुए पुलिस के साथ ही नगर निगम और मीडिया कर्मियों पर हमले बोले थे। जिसमें कई घायल हो गए थे। इसके अलावा बनभूलपुरा थाने के साथ-साथ कई सरकारी और निजी वाहनों को भी फुंक दिया गया। स्थिति नियंत्रित करने के लिए प्रशासन को कर्फ्यू भी लगाना पड़ा।

यह भी पढ़ें 👉  दुखद-बाघ के हमले से युवक की मौत

इस मामले में पुलिस ने तीन मुकदमे दर्ज किए। इस हिंसा में करोड़ों की सरकारी और निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचा है। हिंसा के बाद से पुलिस लगातार उपद्रवियों की धरपकड़ के लिए कार्रवाई कर रही है। साथ ही मुख्य आरोपी अब्दुल मलिक समेत समेत 82 दंगाईयों को गिरफ्तार कर ‌लिया। जबकि उसका बेटा पुलिस को चकमा देता रहा।

यह भी पढ़ें 👉  बिग ब्रेकिंग-(देहरादून) सीबीआई ने सीपीडब्ल्यूडी के सहायक अभियंता को 1,00,000/- रु. की रिश्वत स्वीकारने के दौरान किया गिरफ्तार

एसएसपी प्रहलाद नारायण मीणा ने बताया कि बनभूलपुरा हिंसा से जुड़े उपद्रवियों की गिरफ्तारी के लिए छह पुलिस टीमें गठित की गई, जो देश के अलग-अलग राज्यों- गुजरात, दिल्ली, मुंबई-महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, बिहार आदि सभी संभावित स्थानों पर लगातार दबिश दे रही है। उक्त गठित टीमों में से एक टीम को बड़ी सफलता हासिल हुई है। टीम ने दंगे में वांछित अभियुक्त अब्दुल मोईद को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है।