शराब घोटाला- ईडी ने केजरीवाल के एक और मंत्री को भेजा समन

ख़बर शेयर करें -

दिल्ली शराब घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का ऐक्शन लगातार जारी है। दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के सुप्रीमो की गिरफ्तारी के बाद अब ईडी ने एक और मंत्री कैलाश गहलोत को भी समन भेज दिया है। बताया जा रहा है ईडी ने कैलाश गहलोत को आज ही पूछताछ के लिए बुलाया है।

नजफगढ़ से आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक गहलोत मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली दिल्ली सरकार में परिवहन, गृह और कानून मंत्री है। सूत्रों ने कहा कि गहलोत को शराब नीति मामले में पूछताछ के लिए पेश होने और पीएमएलए के तहत अपना बयान दर्ज कराने के लिए कहा गया है।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी-(बिग ब्रेकिंग) जिले मे 2 करोड 12 लाख की नगदी,शराब,ड्रग एवं अन्य बहुमूल्य धातु जब्त

यह मामला 2021-22 के लिए दिल्ली सरकार की शराब नीति को तैयार करने और क्रियान्वित करने में कथित भ्रष्टाचार और मनी लॉन्ड्रिंग से संबंधित है, जिसे बाद में रद्द कर दिया गया था। इस मामले में ‘आप’ नेता मनीष सिसौदिया और संजय सिंह को ईडी ने पहले गिरफ्तार किया था और वे न्यायिक हिरासत में हैं।

गौरतलब है कि ईडी ने शराब घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग केस में पूछताछ के लिए भेजे गए 9 समन को दरकिनार कर चुके दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को 21 मार्च की रात को गिरफ्तार कर लिया था। केजरीवाल को शराब घोटाले का मुख्य सूत्रधार बता रही ईडी ने गिरफ्तारी से पहले कई घंटे तक उनके घर में सर्च ऑपरेशन भी चलाया था। दिल्ली हाईकोर्ट द्वारा केजरीवाल को ईडी की किसी दंडात्मक कार्रवाई से राहत देने से इनकार करने के कुछ ही घंटों बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया था। पद पर रहने के दौरान किसी मुख्यमंत्री की गिरफ्तारी का यह पहला मामला है। वह 1 अप्रैल तक ईडी की कस्टडी में हैं।

यह भी पढ़ें 👉  जिला निर्वाचन अधिकारी वन्दना सिंह ने EVM और पोलिंग पार्टियों के परिवहन हेतु प्रयोग होने वाले वाहनों की लगातार जीपीएस ट्रैकिंग करने के दिये निर्देश

बता दें कि, मुख्यमंत्री केजरीवाल ने खुद अदालत में अपनी दलीलें रखते हुए आरोप लगाया कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का उद्देश्य आम आदमी पार्टी (आप) को खत्म करना है। केजरीवाल ने यह भी आरोप लगाया कि देश के सामने आम आदमी पार्टी के भ्रष्ट होने की झूठी तस्वीर पेश की जा रही है।