त्रिस्तरीय पंचायत का कार्यकाल 2 वर्ष बढ़ाने की मांग को लेकर होंगी महापंचायतें, जरूरत पड़ी तो होगा राज्यव्यापी आंदोलन 

ख़बर शेयर करें -

देहरादून।  उत्तराखंड के 12 जनपदों में त्रिस्तरीय पंचायत का कार्यकाल 2 वर्ष बढ़ाए जाने की मांग सहित पांच सूत्रीय मांगों पर कुमाऊं मंडल के अल्मोड़ा में 24 जनवरी को तथा गढ़वाल मंडल के देहरादून में 29 जनवरी को महा पंचायत आयोजित की जा रही है। इस महापंचायत में मंडलों के ग्राम प्रधान, क्षेत्र पंचायत, तथा जिला पंचायत संगठनों के पदाधिकारी भाग लेंगे।

महापंचायत अपनी मांगों के समर्थन में  राज्यव्यापी आंदोलन का रणनीति तैयार करेगा। जिसे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी तथा पंचायत मंत्री सतपाल महाराज से मुलाकात के बाद सार्वजनिक किया जाएगा। महापंचायत के संयोजक तथा पिथौरागढ़ के जिला पंचायत सदस्य जगत मर्तोलिया ने बताया कि महापंचायत में त्रिस्तरीय पंचायतों के समस्त संगठनों के पदाधिकारी को आमंत्रित किया गया है। उन्होंने बताया कि पदाधिकारियों के अलावा इच्छुक सदस्य भी इस महापंचायत में भाग ले सकते है। 

यह भी पढ़ें 👉  बजट पर चार्टर्ड एकाउंटेंट प्रखर रावत की त्वरित टिप्पणी

अल्मोड़ा तथा देहरादून के जिला पंचायत सभागारों में महापंचायत रखी गई है। उन्होंने बताया कि महापंचायत में उत्तराखंड के 12 जनपदों में त्रिस्तरीय पंचायतों का कार्यकाल 2 वर्ष बढ़ाए  जाने,उत्तराखंड में त्रिस्तरीय पंचायत को मिलने वाले राज्य वित्त तथा 15वें वित्त का भुगतान पूर्व की भांति किए जाने, उत्तराखंड में सुस्पष्ट पंचायत एक्ट तैयार करने, उत्तराखंड में त्रिस्तरी पंचायतों को 29 विषय तत्काल स्थानांतरित करने, उत्तराखंड में पंचायत विभाग का ढांचा पुनर्गठित करने की मांग पर महापंचायत में विचार विमर्श किया जाएगा। उन्होंने बताया कि  महापंचायत में शामिल होने वाले सदस्यों की राय पर पांच सूत्री मांगों में अन्य मांगों को भी जोड़ा जा सकता है।