मुख्य सचिव ने की चारधाम यात्रा तैयारियों की समीक्षा,  सुव्यवस्थित प्रबन्धन करने के दिए निर्देश 

ख़बर शेयर करें -

देहरादून। चारधाम यात्रा को सहज, सुगम, सुखद और सुरक्षित बनाने के दृष्टिगत मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने यात्रा मार्ग पर जरूरी इन्फ्रास्ट्रक्चर पूरी तरह तैयार करने हेतु सभी विभागों को दो महीने की डेडलाइन दी है। उन्होंने आम यात्रियों की सुविधाओं के लिए यात्रा रजिस्ट्रेशन को अधिक से अधिक ऑनलाइन प्रोत्साहित करने के निर्देश दिए हैं।

मुख्य सचिव ने शुक्रवार को सचिवालय में चारधाम यात्रा की तैयारियों की समीक्षा करते हुए आगामी चार धाम यात्रा को केजुअल्टी फ्री यात्रा बनाने के निर्देश दिए हैं। मुख्य सचिव ने अधिकारियों को 15 अप्रैल तक सड़कों के मरम्मत, पैच्स आदि का कार्य पूर्ण करने की डेडलाइन दी है। इसके साथ ही सीएस ने वीआईपी दर्शन के कारण जनसामान्य को किसी तरह की परेशानी न हो, इसके लिए सुव्यवस्थित प्रबन्धन करने के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  बिग ब्रेकिंग-(हल्द्वानी) एंटी ह्यूमन यूनिट का स्पा सेन्टरों पर चैकिंग अभियान,दो स्पा सेन्टरों पर कोर्ट की चालानी कार्यवाही

यात्रा मार्ग पर सड़क दुर्घटनाओं एवं रोड सेफ्टी के मामलों को गम्भीरता से लेते हुए मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने जिलाधिकारियों को रोड सेफ्टी से सम्बन्धित सभी पहलुओं विशेषकर क्रेश बैरियर लगवाने के प्रस्ताव शीघ्र शासन स्तर पर भेजने, पुलिस एवं परिवहन की संयुक्त टीमों द्वारा गत वर्षो में यात्रा सीजन के दौरान हुई सड़क दुर्घटनाओं का डेथ ऑडिट करने के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  शनिवार को हल्द्वानी का ट्रैफिक रहेगा डायवर्ट, इन रास्तों का करें इस्तेमाल

मुख्य सचिव ने हैली सेवाओं के फर्जीवाड़े के मामलों की गम्भीरता से जांच के लिए एसटीएफ को पूर्णतः सक्रिय करने के निर्देश दिए हैं।  बैठक में सचिव सचिन कुर्वे, पंकज कुमार पाण्डेय, विनय शंकर पाण्डेय, अरविन्द सिंह हयांकी, डॉ आर राजेश कुमार, महानिदेशक सूचना बंशीधर तिवारी सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी तथा वर्चुअल माध्यम से सभी जिलाधिकारी मौजूद रहे।