अचानक राजकीय प्राथमिक स्कूल में जा पहुंचे आयुक्त, देखी व्यवस्थाएं

ख़बर शेयर करें -

नैनीताल। कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत ने राजकीय प्राथमिक विद्यालय रामगढ़ तल्ला विकासखंड रामगढ़ का निरीक्षण किया। जहां उन्होंने विद्यालय परिसर में मूलभूत समस्याएं पानी, बिजली, शौचालय आदि की व्यवस्थाएं देखी और आंगनवाड़ी में पढ़ने आए बच्चों को प्यार-दुलार दिया।

आंगनबाड़ी की समुचित व्यवस्थाओं से दीपक रावत काफी प्रभावित हुए। ग्राम प्रधान बसंत लाल शाह और स्थानीय निवासी ने बताया कि भूराकोट विलेज रामगढ़ गधेरा में विगत दिनों आयी बाढ़ से गधेरा पर बना पुल क्षतिग्रस्त हो गया था, जिसके उपचारात्मक कार्य कराने और सुरक्षा दीवार बनाने का प्रस्ताव रखा गया, जिसके क्रम में दीपक रावत ने उपजिलाधिकारी नैनीताल को सिंचाई विभाग से वार्ता कर आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए। इसके पश्चात दीपक रावत ने राजकीय महाविद्यालय रामनगर नैनीताल का निरीक्षण किया, जहां गेट के पास फैले कूड़े-कचरे/गंदगी को देखकर नाराजगी जताई और सफाई व्यवस्थापक पर 500 का जुर्माना लगाने का निर्देश दिये

यह भी पढ़ें 👉  मौसम विभाग की बारिश और आंधी-तूफान की चेतावनी, प्रशासन चौकस

उपजिलाधिकारी नैनीताल प्रमोद कुमार को दिए। खंड विकास अधिकारी गीतिका जोशी ने विद्यालय परिसर में संचालित लाइब्रेरी में विद्यार्थियों के उपयोगार्थ हेतु पाठ्य पुस्तकें उपलब्ध कराने और विद्यालय परिसर की बाउंड्री वॉल बनाने की मांग की जिस पर दीपक रावत ने कहा कि बच्चों के लिए पुस्तकें उपलब्ध कराई जाएगी। कुमाऊं आयुक्त ने जल जीवन मिशन हर घर नल हर घर जल विकास परक योजनांतर्गत जल संस्थान द्वारा रामगढ़ तल्ला, सतखोल, चापड़ सहित जनपद अंतर्गत किए जा रहे विकास कार्यों में बरती जा रही ढिलाई पर कड़ी नाराजगी जाहिर की। कुमाऊं आयुक्त ने ईई जल संस्थान विपिन चौहान और जेई जल संस्थान (उपनल) को 01 सप्ताह में कार्यशैली में सुधार न करने की स्थिति में अनुशासनात्मक कार्यवाही की चेतावनी दी।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand weather-तत्कालिक मौसम पूर्वानुमान,कुछ जिलों मे आरेंज तो कुछ जिलों मे येलो अलर्ट,पढ़िये मौसम अपडेट

उन्होंने ईई जल संस्थान को प्रत्येक दिन कार्य की प्रगति रिपोर्ट से अवगत कराने के निर्देश दिए। ओडाखान में सड़क किनारे बांज के पेड़ों में कील ठोक कर कटीले तारों से तार-बाड़ का कार्य किया गया इसके साथ ही टिन शेड से चाहारदीवारी भी की गई है, जिसके अंदर निर्माण कार्य चल रहा है। इस संबंध में दीपक रावत ने उपजिलाधिकारी और संबंधित तहसीलदार को भूमि नाप है या नहीं की जांच करने के निर्देश दिए तथा अवैध निर्माण कार्य होने पर संबंधित के खिलाफ आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए। ओड़ाखान में ही धर्मेंद्र नेगी द्वारा निर्माणाधीन भवन में जल निकासी हेतु बनी कलमठ/पुलिया को  कवर कर दिया गया है, जिस पर दीपक रावत ने उपजिलाधिकारी प्रमोद कुमार को जांच कर संबंधित के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए।