डिलीवरी के बाद नवजात की मौत

ख़बर शेयर करें -

रामनगर- नगर के सरकारी अस्पताल में डिलीवरी होने के बाद नवजात की मौत हो गई। नवजात की मौत से गुस्साए परिजनों ने अस्पताल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कार्यवाही की मांग की।वहीं पूर्व ब्लॉक प्रमुख संजय नेगी के नेतृत्व में सीएमएस से शिकायत कर मामले में कार्रवाई करने की मांग की।

मिली जानकारी के अनुसार हिम्मतपुर डोटियाल निवासी दलीप सिंह ने बताया कि उसकी पत्नी काजोल नेगी सात माह चौदह दिन की गर्भवती थी। रविवार सुबह डिलीवरी कराने के लिए वह सरकारी अस्पताल पहुंची,उस समय महिला डॉक्टर नहीं थीं। नर्साें ने बताया कि सामान्य डिलीवरी करा दी जाएगी। कुछ देर बाद बताया कि 6:16 बजे स्वस्थ बच्चे का जन्म हुआ है।

यह भी पढ़ें 👉  फर्जी प्रमाण पत्रों से बना शिक्षक, अब जेल के साथ लगा जुर्माना 

7:15 बजे देखा तो बच्चे का शरीर नीला पड़ने लगा था। डॉक्टर पहुंची तो बताया कि तीन से चार घंटे में बच्चा ठीक हो जाएगा। सुबह करीब 8:10 बजे नर्सों ने बताया कि बच्चे की हालत नाजुक है, उसे हायर सेंटर रेफर किया जा रहा है। बच्चे को लेकर जब वह काशीपुर के निकले तो वहां डॉक्टरों ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया। इस मामले को लेकर पूर्व ब्लॉक प्रमुख संजय नेगी के साथ परिजनों ने अस्पताल की सीएमएस डॉ. चंद्रा पंत से मिले। डॉ. चंद्रा पंत ने मामले की जांच कर आरोपियों के खिलाफ कार्यवाही का आश्वासन दिया है।