इस लुटेरे ने उड़ाई थी पुलिस की नींद, कई वारदातों को दिया अंजाम, गिरफ्तार

ख़बर शेयर करें -

देहरादून। यहां अलग-अलग स्थानों पर हुई चार लूट की घटनाओं को अंजाम देने वाले आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उसके कब्जे से लूट का माल बरामद किया गया है।

पुलिस के अनुसार बीती 6 फरवरी को थाना नेहरू कॉलोनी में वादिनी आरती शर्मा निवासी एच0-6 फ्रेंड्स एनक्लेव डिफेंस कॉलोनी देहरादून ने तहरीर दी की शाम के समय वह अपने ऑफिस से घर की ओर जा रही थी। तभी राजीव नगर कट पर काले रंग की स्कूटी में सवार एक लड़के ने उनका बैग लूट लिया। जिसमें उनके आवश्यक दस्तावेज तथा 2000 नगद थे। वादिनी द्वारा दी गई तहरीर के आधार पर थाना नेहरूकालोनी पर तत्काल मु0अ0स0- 47/24 धारा 392 आईपीसी पंजीकृत किया गया। इसी दौरान कन्ट्रोल रूम के माध्यम से डालनवाला क्षेत्र में तीन अलग-अलग स्थानो पर भी काली स्कूटी सवार व्यक्ति द्वारा लूट की घटनाओं को अंजाम दिये जाने की सूचना प्राप्त हुई।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand weather-आज राज्य के इन जिलों मे भारी बारिश का अलर्ट,इन जिलों में स्कूल बंद

लगातार हुई घटनाओं की गंभीरता के दृष्टिगत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून ने सभी थाना प्रभारियों को स्कूटी सवार व्यक्ति की तलाश हेतु सघन चैकिंग अभियान चलाने के निर्देश दिये गये थे, साथ ही नियमित रूप से पुलिस द्वारा की जा रही चैकिंग की क्लोज माॅनिटरिंग की जा रही थी। पुलिस द्वारा की गई त्वरित कार्यवाही तथा सघन चैकिंग के परिणामस्वरूप नेहरू कॉलोनी पुलिस द्वारा घटना में शामिल अभियुक्त अर्चित नैथानी पुत्र ईश मोहन नैथानी निवासी ग्राम – नैथान, थाना कीर्तिनगर जिला टिहरी हाल निवासी जलवायु टावर के पास झाजरा, थाना प्रेमनगर, देहरादून को बद्री कालोनी के पास खाली प्लॉट से गिरफ्तार किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड मौसम- भारी से बहुत भारी बारिश के आसार, अलर्ट जारी

जिसकी तलाशी लेने पर उसके पास से नेहरूकालोनी में की गई लूट की घटना से सम्बन्धित वादिनी के दस्तावेज तथा नकदी बरामद हुई, इसके अतिरिक्त अभियुक्त के पास से डालनवाला क्षेत्र में की गई लूट की तीन अन्य वारदातों से सम्बन्धित माल भी बरामद हुआ। पूछताछ में अभियुक्त अर्चित नैथानी द्वारा बताया गया कि वह नशे का आदि है, तथा उसके द्वारा नशे में ही उक्त सारी घटनाओं को अंजाम दिया गया था। सर्कुलर रोड में उसके द्वारा एक राह चलती महिला का बैग छीन लिया था, जिसमें उसे कुछ कागजात तथा ज्यादा रुपये नहीं थे, पर अपने नशे की पूर्ति के लिये उसे और पैसो की आवश्यकता थी। जिसके लिये उसके द्वारा अन्य लूट की घटनाओ को अजांम दिया गया, पर उनमें भी उसे कोई खास धनराशि प्राप्त नही हो पायी इसलिए घटना की गयी। पुलिस टीम में फव्वारा चौकी प्रभारी कुसुम पुरोहित, एसआई राकेश पुण्डीर, कांस्टेबल ब्रजमोहन, श्रीकान्त ध्यानी, मुकेश कण्डारी, विजय शामिल रहे।