राज्य स्थापना दिवस पर शहीदों को श्रद्धांजलि, सांस्कृतिक कार्यक्रमों की रही धूम

ख़बर शेयर करें -

नैनीताल। 23वां राज्य स्थापना दिवस समारोह जनपद मुख्यालय में धूमधाम से मनाया गया। स्थापना दिवस समारोह में विभिन्न स्कूल छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रमो की रंगारंग प्रस्तुति दी। विधायक सरिता आर्या, जिलाधिकारी वंदना एवं राज्य आंदोलनकारी ने  उत्तराखण्ड राज्य शहीद आन्दोलनकारी के स्मारक स्थल पर पुष्पांजलि अर्पित कर शहीदों को श्रद्धांजलि दी गयी।

जनपद मुख्यालय नैनीताल के डीएसए मैदान में आयोजित रंगारंग  समारोह में बतौर मुख्य अतिथि स्थानीय विधायक सरिता आर्या, विशिष्ट अतिथि  कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत एव जिलाधिकारी वंदना ने शिरकत करते हुए विभिन्न विभागों द्वारा लगाए गए स्टोलों का भी निरीक्षण करते हुए स्थानीय उत्पादों की जानकारी ली।विधायक ने सम्बोधित करते हुये जनपद वासियों  को 23 वां उत्तराखंड राज्य स्थापना दिवस की बधाई देते हुए शुभकामनाएं दी। कहा कि राज्य सरकार ने राज्य आंदोलनकारियों व शहीदों के अनुरूप आदर्श उत्तराखंड 2025 को अपना मंत्र बनाकर त्वरित गति से कार्य हर क्षेत्र में विकास कार्य कर रही  हैं। आजादी के अमृत काल के लिए आगामी 25 सालों की योजना तैयार की गई है । ताकि  2025 तक उत्तराखंड को देश के अग्रणी राज्यों में शामिल किया जा सके । उन्होंने कहा कि हर क्षेत्र में जन भावनाओं के अनुरूप राज्य के विकास की दिशा के निर्धारण पर ध्यान दिया जा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand weather-तत्कालिक मौसम पूर्वानुमान,इन आठ जिलों मे येलो अलर्ट,पढ़िये मौसम अपडेट

आयुक्त कुमाऊं दीपक रावत ने उत्तराखण्ड राज्य स्थापना दिवस पर सभी को  बधाई दी। कहा कि राज्य निर्माण में अपना योगदान देने वाले सभी अमर शहीदों और आंदोलनकारियों को श्रद्धापूर्वक नमन करता हूँ और सभी उत्तराखण्ड वासियों की सुख-समृद्धि की कामना करता हूँ। उन्होंने कहा कि प्रदेश मुख्यमंत्री ने वर्ष 2025 मैं उत्तराखंड को अग्रणी राज्य बनाने के लिए संकल्प लिया है। हम सभी को मिलकर  विकास कार्यों में अपना सहयोग देना होगा। उन्होंने कहा कि राज्य आज पर्यटन उद्यान टूरिज्म, स्वास्थ्य शिक्षा रोड कनेक्टिविटी के क्षेत्र में दिन प्रतिदिन तरक्की की ओर अग्रसारित है। जिलाधिकारी वंदना ने जनपद वासियों  को उत्तराखण्ड राज्य स्थापना दिवस की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएँ दी।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर-कैबिनेट द्वारा लिये गये महत्वपूर्ण निर्णय,पढ़िये विस्तार से

इस अवसर पर दौड़ प्रतियोगिता, हिमालय फूड फेस्टिवल का भी आयोजन किया गया है जिसमें स्थानीय उत्पादन से बने विभिन्न प्रकार के पकवानों का लुप्त लिया गया। इसके अलाव  पशुपालन.कृषि, मत्स्य, समाज कल्याण,उद्यान,रेशम, बाल विकास विभाग, सहकारी  समिति के अलावा स्वयं सहायता समूह ने अपने-अपने स्टाल लगाए गए  इसके अलावा नैनी झील में नौकायन का भी प्रदर्शन किया गया। इस अवसर पर  अपर जिलाधिकारी पी आर चौहान, शिवचरण द्विवेदी, राज्य आन्दोलन आंदोलनकारी डी एन भट्ट, के एल आर्य, पूरन सिंह मेहरा, राजेंद्र सिंह, पान सिंह रौतेला, मनोज जोशी, व्यापार मंडल के अध्यक्ष मारुति नंदन साह, के अलावा संबंधी विभाग के अधिकारी स्कूली छात्र- छात्राएं जनप्रतिनिधि, एवं समस्त नगरवासी  मौजूद थे।