आयुक्त के निर्देश- आपदा प्रभावित क्षेत्रों में तत्काल हों राहत व बचाव कार्य

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। कैम्प कार्यालय में आयुक्त दीपक रावत ने शनिवार को जनसुनवाई कर मौके पर शिकायतों का समाधान किया। जन शिकायतों में अधिकांश शिकायतें, भूमि विवाद, पारिवारिक विवाद व अतिक्रमण, सड़क आदि से सम्बन्धित आई।

जनसुनवाई में आमजनमानस की मुख्यतयाः भूमि विवाद, सडक, अतिक्रमण,राशन कार्ड, ब्याज पर धनराशि देने आदि की समस्याओं का आयुक्त ने मौके पर समाधान किया गया। काफी समय से लम्बित भूमि विवाद की समस्याओं में धनराशि व भूमि वापस मिलने पर लोगों द्वारा आयुक्त का आभार व्यक्त किया। 

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- दादा ने पांच साल की पोती को बनाया हवस का शिकार

    जनसुनवाई में आयुक्त श्री रावत ने कहा कि जो लोग भूमि क्रय करते हैं भूमि की रजिस्ट्री के पश्चात दाखिल खारिज भी अवश्य करा लें। इससे भविष्य में होने वाली अनावश्यक परेशानियों से बचा जा सकता है। 

  आयुक्त श्री रावत ने सभी जिलाधिकारियों को निर्देशित किया है कि आपदा प्रभावित क्षेत्रों  में पीड़ित परिवारों को बिना किसी परेशानी के तत्काल राहत एवं बचाव कार्यों के साथ ही सहायता राशि मुहैया कराई जाए।

     आयुक्त श्री रावत ने कि कहा तीव्र वर्षा के दौरान जलप्रवाह बढने से नालों, रपटों में होने वाली दुर्घटनाओं को रोकने हेतु पुलिस द्वारा संवेदनशील स्थानों पर बैरियर लगाकर आवागमन प्रतिबंधित किया जाए तथा संवेदनशील स्थानों पर जेसीबी एवं टैक्टर की तैनाती भी करने के निर्देश सभी जिलाधिकारियों को दिये। 

यह भी पढ़ें 👉  सीएम के निर्देश- जंगलों से सटे स्थान जल्द किए जाएं  बायो फेंसिंग से आच्छादित

विगत जनसुनवाई में  कमला उपाध्याय ने आवासीय परिसर से विद्युत लाईन स्थानान्तरित कराने का अनुरोध किया। जिस आयुक्त ने जनसुनवाई मे मौके पर यूपीसीएल के अधिकारियों और फरियादी को बुलाया था। विद्युत विभाग के अधिकारी द्वारा बताया गया कि  फरियादी के मकान से पूर्व विभाग की विद्युत लाइन थी। 

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand weather-आज राज्य के इन जिलों मे भारी बारिश का अलर्ट,इन जिलों में स्कूल बंद

नियमानुसार विभाग के द्वारा विभागीय खर्चे से लाइन स्थानांतरित नहीं की जा सकती है, फरियादी लाइन स्थानांतरित चाहते है तो उन्हे स्वयं के खर्चे से लाइन स्थानांतरित करनी होगी जिसकी डीपीआर तैयार कर फरियादी को उपलब्ध करा दी है।