साईबर पुलिस स्टेशन देहरादून द्वारा भूटानी नागरिक एवं तिब्बती नागरिक (संदिग्ध चाईनीज़) को किया गिरफ्तार,ऐसे लगाते थे लोगों को चूना

ख़बर शेयर करें -

गिरफ्तार अभियुक्तों द्वारा हौंककौंग,वियतनाम एवं चाईना में 500 से ज्यादा फर्जी सिम भेजे गये जिन्हें देशभर में हो रहे तमाम चीनी घोटालों में प्रयोग किया जा रहा है
एस0टी0एफ0 उत्तराखण्ड / साईबर क्राईम पुलिस स्टेशन देहरादून द्वारा यूट्यूब वीडियो को लाईक व सबस्क्राइब कर जल्दी पैसे कमाने का लालच देकर ठगी करने वाले गिरोह के दो सदस्यों को किया गिरफ्तार

मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड के निर्देशो के क्रम में प्रदेश के निवासियों को साइबर अपराधियों द्वारा जनता  से ठगी करने वालो पर सख्ती कार्यवाही कर पुलिस महानिदेशक द्वारा एसटीएफ व साइबर पुलिस को प्रभावी कार्यवाही हेतु दिशा निर्देश दिये गये है ।

वर्तमान में साइबर अपराधी आम जनता की गाढ़ी कमाई हड़पने हेतु अपराध के नये-नये तरीके अपनाकर धोखाधड़ी कर रहे है। इसी परिपेक्ष्य में ठगों द्वारा फर्जी साइट तैयार कर आम जनता से वट्सएप / ई-मेल / दूरभाष व अन्य सोशल साईटों के माध्यम से सम्पर्क कर स्वयं को विभिन्न नामी-गिरामी कम्पनियों से बताते हुये टेलीग्राम व यूट्यूब के माध्यम से यू ट्यूब वीडियो लाईक एवं सब्स्क्राईब करने के टास्क नाम पर घर बैठे लाभ कमाने का लालच देकर लाखों रुपये की धोखाधडी की जा रही है ।

इसी क्रम में एक प्रकरण साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन को प्राप्त हुआ जिसमें अज्ञात व्यक्ति द्वारा मो0नं0 +1(272)287-0041+91-9993595763 से वादी के मो0न0 पर मैसेज कर स्वंय को Rankon Technologies (India) से बताकर टेलीग्राम ग्रुप में जोड़कर लिंक भेजकर यू-ट्युब और इंस्टाग्राम पर फॉलो व सबस्क्राईब करने आदि सम्बन्धी टास्क देकर लाभ कमाने के नाम पर भिन्न-भिन्न तिथियों में भिन्न भिन्न खातो में लेन देन के माध्यम से ऑनलाईन कुल 22,89,260/- रुपये धोखाधड़ी से ठग लेने के सम्बन्ध में प्राप्त हुआ । जिसके आधार पर थाना साइबर क्राईम पर मु0अ0स0 15/2023 धारा 420,120बी भादवि व 66 डी आईटी एक्ट पंजीकृत किया गया जिसकी विवेचना प्रभारी निरीक्षक श्री त्रिभुवन रौतेला द्वारा सम्पादित की जा रही है । 

यह भी पढ़ें 👉  सोशल मीडिया में प्रसारित कर दिया बादल फटने का फर्जी वीडियो, डीएम सख्त

अभियोग में अभियुक्तों के विरुद्ध कार्यवाही हेतु गठित टीम द्वारा घटना में प्रयुक्त मोबाईल नम्बर, तथा अभियुक्तो द्वारा शिकायतकर्ता से प्राप्त धनराशि की जानकारी प्राप्त की गयी तथा प्रकाश में आया कि अभियुक्तो द्वारा शिकायतकर्ता से यू ट्यूब वीडियो लाईक सब्स्क्राईब करने के टास्क कर लाभ कमाने के नाम पर वादी मुकदमा से धोखाधडी की गयी । जिसमें मोबाईल नम्बर व खातों की जानकारी की गयी । पुलिस टीम द्वारा अथक मेहनत एवं प्रयास से अभियुक्तो द्वारा वादी मुकदमा को जो खाता संख्या व मोबाईल नम्बर दिये थे व धोखाधडी से प्राप्त की गयी धनराशि फर्जी आईडी पर खोले गये बैक खातो में प्राप्त की गयी थी उक्त खातों के खाताधारक की जानकारी प्राप्त की गयी व उक्त खाते का खाताधारक के सम्बन्ध में साक्ष्य एकत्रित करते हुये अभियोग में एक तिब्बती नागरिक तेन्जिंग चोफेल पुत्र लोपसांग तेन्जिंग हाल निवासी म0नं0 62, ब्लॉक 3, मजनू का टीला, न्यू अरुणानगर थाना तिमारपुर दिल्ली तथा एक भूटानी नागरिक ललिता थापा पुत्री ज्ञान बाहदुर थापा निवासी म0नं0 62, ब्लॉक 3, मजनू का टीला, न्यू अरुणानगर थाना तिमारपुर दिल्ली को तिमारपुर दिल्ली से गिरफ्तार किया गया । अभियुक्त से घटना में प्रयुक्त 01 मोबाईल फोन मय 03 सिम कार्ड बरामद किये गये।

यह भी पढ़ें 👉  भ्रष्टाचार पर प्रहार- विजिलेंस ने खंड शिक्षा अधिकारी को रिश्वत लेते पकड़ा

अपराध का तरीका
अभियुक्तगण द्वारा नामी गिरामी कम्पनियों की फर्जी वैबसाईट बनाकर आम जनता से वट्सएप / ई-मेल / दूरभाष व अन्य सोशल साईटों के माध्यम से सम्पर्क कर स्वयं को विभिन्न नामी-गिरामी कम्पनियों के एचआर / कर्मचारी  बताकर ऑनलाईन टास्क कर रुपये कमाने का प्रलोभन देकर जॉब ऑफर कर लिंक भेजकर टेलीग्राम एप डाउनलोड करवाकर व अपने टेलीग्राम ग्रुप में जोड़ना । तत्पशचात सिग्नल एप के माध्यम से विभिन्न यू ट्यूब वीडियो लाईक एवं सब्स्क्राईब करने के टास्क देते है तथा उसमें निवेश कर अधिक लाभ कमाने का लालच देकर धोखाधड़ी से भिन्न-भिन्न लेन देन के माध्यम से धनराशि प्राप्त करते है व धोखाधडी से प्राप्त धनराशि को विभिन्न बैक खातो में प्राप्त कर उक्त धनराशि का प्रयोग करते है । अभियुक्तगणो द्वारा उक्त कार्य हेतु फर्जी सिम, आईडी कार्ड तथा फर्जी खातों का प्रयोग कर अपराध कारित किया जाता है ।
इस पूरी प्रक्रिया में भारत में बैठे ऐसे विदेशी मूल के नागरिकों द्वारा भारत से बाहर फर्जी सिम कार्ड भेजे जाते है जिनसे पूरे देश भर में साईबर ठगी की जा रही है । साईबर थाना देहरादून द्वारा जल्द ही इनका विश्लेषण कर तमाम एजेन्सियों के साथ जानकारी साझा की जायेगी ।

गिरफ्तार अभियुक्त का नाम
1- तेन्जिंग चोफेल पुत्र लोपसांग तेन्जिंग हाल निवासी म0नं0 62, ब्लॉक 3, मजनू का टीला, न्यू अरुणानगर थाना तिमारपुर दिल्ली । उम्र 28 वर्ष ( मूलतः तिब्बती नागरिक )
2- ललिता थापा पुत्री ज्ञान बाहदुर थापा निवासी म0नं0 62, ब्लॉक 3, मजनू का टीला, न्यू अरुणानगर थाना तिमारपुर दिल्ली । उम्र 29 वर्ष( मूलतः भूटानी नागरिक )

बरामदगी-
1. 01 मोबाईल फोन (Redmi)
2. 01 पासपोर्ट (भूटान)
3. 01 हार्ड डिस्क
4. 10 डैबिट / क्रैडिट कार्ड
5. 01 आधार कार्ड
6. 01 पैन कार्ड
7. 01 सिटिज़नशिप आईडी
8. 01 वोटर कार्ड
9. 82 सिम कार्ड

यह भी पढ़ें 👉  मौसम विभाग की चेतावनी- अगले पांच दिन बरसेंगे मेघ

पुलिस टीम- (थाना साईबर क्राईम)
1- पुलिस उपाधीक्षक अंकुश मिश्रा
2- निरीक्षक त्रिभुवन रौतेला
3- उ0नि0 राहुल कापड़ी
4- म0 उ0नि0 प्रतिभा
5- कानि0 सोहन बडोनी
6- कानि0 सुधीष खत्री  
(तकनीकी सहयोग)
1- है0का0 प्रमोद कुमार (STF)
2- कानि0 अनिल कुमार (STF)

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एस0टी0एफ0 उत्तराखण्ड आयुष अग्रवाल द्वारा जनता से अपील की है कि वे किसी भी प्रकार के लोक लुभावने अवसरो/फर्जी साइट/धनराशि दोगुना करने/ टिकट बुक करने व ऑनलाईन सोशल साईट पर टास्क करने वाले अंनजान अवसरो के प्रलोभन में न आयें । किसी भी प्रकार के ऑनलाईन जॉब/टास्क हेतु एप्लाई कराने से पूर्व उक्त साईट का पूर्ण वैरीफिकेशन सम्बन्धित कम्पनी आदि से भलीं भांति इसकी जांच पड़ताल अवश्य करा लें तथा गूगल से किसी भी कस्टमर केयर नम्बर सर्च न करें व शक होने पर तत्काल निकटतम पुलिस स्टेशन या साइबर क्राईम पुलिस स्टेशन को सम्पर्क करें । वित्तीय साईबर अपराध घटित होने पर तुरन्त 1930 नम्बर पर सम्पर्क करें । इसके अतिरिक्त गिरफ्तारी के साथ-साथ साईबर पुलिस द्वारा जन जागरुकता हेतु अभियान के अन्तर्गत हैलीसेवा वीडियो साइबर पेज पर प्रेषित किया गया है। जिसको वर्तमान समय तक काफी लोगो द्वारा देख कर शेयर किया गया है।