कुंभ कोविड जांच घपला- दून की लैब के खिलाफ मुकदमा दर्ज, जांच शुरू

ख़बर शेयर करें -

देहरादून। कुंभ कोविड जांच घपले में देहरादून की लैब के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। प्रवर्तन निदेशालय की जांच रिपोर्ट के आधार पर यह केस दर्ज हुआ है। घपले में इससे पहले हरिद्वार में साल 2021 में मुकदमा दर्ज किया गया था।

आरोप है कि दून के लैब संचालक ने फर्जी रिपोर्ट आईसीएमआर पोर्टल पर अपलोड कर लाखों का भुगतान ले लिया। मामले में स्पेशल डायरेक्टर नॉर्दन रीजनल ऑफिस प्रवर्तन निदेशालय चंडीगढ़ ने एसएसपी देहरादून कार्यालय को रिपोर्ट भेजी। कहा कि कुंभ के दौरान कोविड जांच घपले में हरिद्वार में साल 2021 में दर्ज मुकदमे के आधार पर ईडी मनी लांड्रिंग की जांच कर रही है। जांच के दौरान पता लगा कि दून की कारगी रोड न्यू विद्या विहार स्थित डीएनए लैब ने 2021 के कुंभ मेले के दौरान आरएटी और आरटी-पीसीआर टेस्ट किए।

यह भी पढ़ें 👉  बिग ब्रेकिंग-उत्तराखंड से पुराना रिश्ता व रामनगर से विशेष लगाव की बात कहते हुए कांग्रेस की स्टार प्रचारक प्रियंका गांधी ने कही यह बड़ी बात,देखिये Live

लैब के आईसीएमआर डेटा की जांच करने पर पता चला है कि अधिकांश रिपोर्ट फर्जी बनाकर अपलोड की गईं। इस लैब का संचालक दिव्य प्रकाश पुत्र गोविंद राम निवासी आशीर्वाद एंक्लेव टीएचडीसी कॉलोनी देहराखास हैं। इन पर लैब से फर्जी रिपोर्ट बनवाकर भुगतान हासिल करने का आरोप है। सीओ सदर अनिल जोशी ने बताया कि ईडी की एसएसपी कार्यालय को भेजी गई रिपोर्ट के आधार पर पटेलनगर थाने में डीएनए लैब कारगी और इसके संचालक दिव्य प्रकाश के खिलाफ कोविड जांच की फर्जी रिपोर्ट बनाकर उनके जरिए भुगतान पाने के आरोप में मुकदमा दर्ज किया गया है। मुकदमा थाने के दरोगा बलदीप सिंह की तरफ दर्ज हुआ। इसकी जांच दरोगा कुलदीप शाह करेंगे।