लोकसभा चुनाव- ईवीएम और वीपीपैट की बताई बारीकियां, शंकाओं का समाधान

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी। लोकसभा चुनाव को शान्तिपूर्ण एवं पारदर्शिता के साथ संपन्न कराने हेतु एमबीपीजी कालेज में मतदान कार्मिकों को प्रशिक्षण दिया गया। कार्मिंकों को ईवीएम और वीपीपैट संचालन की बारीकियां बताई गईं। प्रशिक्षण दो पालियों में दिया गया।

 नोडल अधिकारी मतदान/मतगणना हिमांशु जोशी ने बताया कि मतदान कार्मिकों  को प्रशिक्षण की गंभीरता को समझना होगा। उन्होंने कहा कि मतदान कार्मिंको की लोकतंत्र के महापर्व को सफल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका होती है। जोशी ने कहा कि  निष्पक्ष तरीके से मतदान कराना कार्मिकों की जिम्मेदारी उन्हांने  कहा कि निर्वाचन कार्य में लापरवाही क्षम्य नही है। उन्होंने  कहा कि ईवीएम और वीवीपैट मशीन को लाने और ले जाने में विशेष सावधानी बरतें।

यह भी पढ़ें 👉  चुनाव प्रचार के अंतिम दिन सतपाल महाराज पीरुमदारा में भाजपा प्रत्याशी अनिल बलूनी के पक्ष मे रैली को करेंगे संबोधित

     श्री जोशी ने कार्यशाला में कर्मियों को मतदान से संबंधित दायित्व, कर्तव्य की विस्तारपूर्वक जानकारी दी। उन्हांने ईवीएम व वीवीपैड मशीन में आने वाली प्राब्लम के बारे में कार्मिकों बताया कि इस प्रकार की छोटी-छोटी समस्याओं को कैसे दूर किया जाता है। उन्होंने कहा कि मतदान सुचारू रूप से चले इसलिए ईवीएम की सम्पूर्ण जानकारी मतदान कार्मिकों को होनी आवश्यक है। 

यह भी पढ़ें 👉  लोक सभा सामान्य निर्वाचन-2024-राज्य में अभी तक कुल 16 करोड़ से अधिक नकदी,शराब,सोना सहित अन्य सामान जब्त 

   ईवीएम मास्टर ट्रेनर आरपी पाण्डे ने कार्मिंकों को ईवीएम और वीपीपैड के संचालन के तरीके बताए। उन्हांने प्रशिक्षण में बारीकियों को समझाते हुए ईवीएम प्रशिक्षण के दौरान मतदान कार्मिकों को विभिन्न  प्रपत्र भरने, ईवीएम को ऑन व ऑफ करने, सील करने के साथ ही बीयू व  सीयू तथा वीवीपैट को संयोजित करने, खोलने और सील करने की प्रक्रिया के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए हैंड्स ऑन प्रशिक्षण दिया गया।    

  कार्यशाला में मास्टर ट्रेनरों ने मतदान के लिए सामग्री प्राप्त के तरीके, मतदान से पूर्व बूथ पर की जाने वाली कार्यवाही, मतदान शुरू करने, मतदान समाप्ति सहित सम्पूर्ण मतदान प्रक्रिया की विस्तार से जानकारी दी। मास्टर ट्रेनर ने प्रशिक्षण के दौरान कार्मिकों की शंका का निदान भी किया।   कार्यशाला में ट्रेनर एचबी चन्द्र,विमल किशोर, पूरन सिंह, राजीव जोशी, आरती जैन एवं रेखा तिवारी द्वारा प्रशिक्षण दिया गया।