चरित्र कथा में श्री परशुराम के चरित्र का मार्मिक वर्णन, भगवान शिव की तपस्या प्रसंग सुन भक्त भावविभोर

ख़बर शेयर करें -

देहरादून। श्री पृथ्वीनाथ महादेव जी मंदिर देहरादून में पहली बार अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा द्वारा आयोजित श्री परशुराम भगवान की चरित्र कथा में व्यास प्रखर भागवत आचार्य सुभाष जोशी ने दूसरे दिन कथा की अमृत वर्षा की।

भगवान परशुराम जी श्री विष्णु भगवान के छठे अवतार माने जाते हैं। अपने पितामह में महर्षि भृगु द्वारा किए गए नामांकरण संस्कार के बाद राम कहलाए, भगवान शिव जी द्वारा फरसा दिए जाने के पश्चात परशुराम कहलाए। भगवान परशुराम का जन्म भले ही ब्राह्मण समाज में हुआ हो, लेकिन वह ब्राह्मण समाज के साथ ही हिंदू समाज के आदर्श माने जाते हैं। उन्होंने अपनी भक्ति से भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न किया और उनसे आशीर्वाद प्राप्त किया। श्री राम काल में भी उनका उल्लेख मिलता है।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर-(उत्तराखंड) सुरक्षा संवर्ग और आईटी संवर्ग के लिए 58 पदों के लिए होगी नियुक्ति,मिली स्वीकृति

उन्होंने शास्त्र और शस्त्र दोनों का समय अनुसार प्रयोग करने का अद्भुत संदेश दिया। इस अवसर पर दिगंबर भागवत पुरी, दिगंबर दिनेश पुरी, भारत भूषण भट्ट, आशीष उनियाल, मनमोहन शर्मा, मुख्य यजमान पवन शर्मा, कैलाश डोभाल, राहुल शर्मा, अरुण शर्मा, रजनीश यादव, हरिराम गुप्ता, इंदु शर्मा, ललित शर्मा, बालकृष्ण शर्मा, पंकज शर्मा, अभिषेक शर्मा, विक्की गोयल, रोहित अग्रवाल, प्रीति गुप्ता आदि उपस्थित रहे।