नशे पर प्रहार- उत्तराखंड पहुंचा दी गांजे की खेप, दो तस्कर गिरफ्तार

ख़बर शेयर करें -

ड्रग्स फ़्री देवभूमि 2025 की परिकल्पना को दून पुलिस साकार करती हुई नज़र आ रहीं है। मादक पदार्थो की तस्करी में लिप्त दो अभियुक्तों को दून पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। अभियुक्त के कब्जे से भारी मात्रा में मादक पदार्थ गांजा 09 किलो 300 ग्राम बरामद हुआ। अवैध गांजे को अभियुक्त मेरठ से खरीदकर लाये थे और वह गांजा ऋषिकेश क्षेत्र में नशे के आदि स्थानीय लोगो व छात्रों को बेचने की फिराक में थे।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री उत्तराखंड के “ड्रग्स फ्री देवभूमि 2025” के विजन को साकार करते हुए नशा तस्करों के विरुद्ध प्रभावी कार्यवाही करने हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा सभी थाना प्रभारियों को निर्देशित किया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर-उत्तराखंड बोर्ड हाईस्कूल और इण्टरमीडिएट की परीक्षाफल सुधार परीक्षा कार्यक्रम धोषित

 जिसके अनुपालन में जनपद में नशा तस्करो के विरुद्ध व्यापक स्तर पर अभियान चलाया जा रहा है।  इसी क्रम में कोतवाली ऋषिकेश पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर चेकिंग के दौरान आईएसबीटी के पास से 02 अभियुक्तो को अशोक कुमार पुत्र कैलाश निवासी साढ़े बारह गज कॉलोनी रघुवीर नगर दिल्ली, हाल निवासी मोकस पूरी गोलबड़, थाना टीपी नगर मेरठ उत्तर प्रदेश व राहुल पुत्र प्रहलाद निवासी मोकस पुरी गोलबड़, थाना टीपी नगर, मेरठ, उत्तर प्रदेश को कुल 09 किलो 300 ग्राम अवैध गांजे के साथ गिरफ्तार किया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  टैक्सी खाई में गिरने से कई लोग घायल, एसडीआरएफ ने किए रेस्क्यू

 दोनो अभियुक्तो के विरुद्ध एनडीपीएस एक्ट के अंतर्गत कोतवाली ऋषिकेश में अभियोग पंजीकृत किए गए है। अभियुक्तों से पूछताछ में उनके द्वारा उक्त गांजे को मेरठ से खरीद कर ऋषिकेश में नशे के आदि स्थानीय व्यक्तियों व शिक्षण संस्थानों में अध्ययन रत छात्रों को बेचने के लिए लाना बताया गया, अभियुक्तो के आपराधिक इतिहास की जानकारी की जा रही है।