देश के सर्वश्रेष्ठ राज्य की ओर अग्रसर होने की दिशा में आगे बढ़ रहा उत्तराखंडः भट्ट

ख़बर शेयर करें -

देहरादून। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने कहा कि भाजपा अपने 10 साल के रिपोर्ट कार्ड के साथ जनता के बीच है और उसे कांग्रेस के तथ्यहीन आरोपों पर सफाई देने की जरूरत नहीं है। 

कांग्रेस के आरोपों पर पत्रकारों के द्वारा पूछे सवालों पर प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस उन सवालों को पूछ रही है जिनका जवाब जनता दे चुकी है या अब इन चुनावों मे देगी। भाजपा जनता से किये गए वायदे और संकल्प को लेकर जनता के प्रति जवाबदेह है। जबकि कांग्रेस महज प्रधानमंत्री को गाली और जनादेश का अपमान कर रही है। भट्ट ने कहा कि पहाड़ की बेटी अंकिता के मामले मे तमाम आरोप प्रत्यारोप लगा रही कांग्रेस को जनता ने उसकी तथा कथित यात्रा के दौरान बैकफुट पर धकेल दिया है और उससे खिसियाकर वह भाजपा नेताओं के खिलाफ अनर्गल आरोप लगा रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस की यह गलतफहमी जनता जल्दी ही दूर करने वाली है क्योंकि दुष्प्रचार से जनता का मत और मन परिवर्तित नही किया जा सकता है। 

यह भी पढ़ें 👉  Uttrakhand Loksabha chunav-(हल्द्वानी) जिन मतदाताओं के पास मतदाता फोटो पहचान पत्र (EPIC CARD) नहीं है,वह इन दस्तावेजों से दे सकते हैं वोट

भट्ट ने कहा कि घोटालों की त्रिर्वेणी मे डूबी कांग्रेस अब गुनहगारों के बारे मे पूछ रही है यह हास्यास्पद है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के शासन मे बिना काल खंड देखे सभी मामलों की जांच और देश का शसक्त नकल कानून अस्तित्व मे है। राज्य के बेरोजगारों के हित आज सुरक्षित हुए हैं लेकिन कांग्रेस इस दौरान भ्रष्टाचारियों के साथ भी खड़ी दिखी। कांग्रेस के कार्यकाल मे जो बड़े घोटाले हुए उन पर वह मौन रही। धामी ने लम्बी लकीर खींची और नकल की संभावना को ही खत्म कर दिया। आज पेपर लीक मामले मे आरोपी सलाखों के पीछे हैं। 

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर-(लोकसभा चुनाव) राज्य के सभी 13 जनपदों में 293 फ्लाइंग स्क्वायड और 252 स्टेटिक्स सर्विलांस टीम तैनात

भट्ट ने कहा कि आज राज्य हर क्षेत्र मे तरक्की कर रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन मे राज्य मे केंद्र की सहायता से डेढ़ लाख करोड़ से अधिक की योजनाएं संचालित हो रही है। प्रधानमंत्री ने आज रुद्रपुर जन सभा में आश्वस्त किया कि यह 10 साल का कार्यकाल तो ट्रेलर है और राज्य को विकास के क्षेत्र मे कहीं अधिक आगे जाना है। राज्य की पहचान केदार खंड के अलावा मानसखंड के रूप में भी होगी। निश्चित रूप से उत्तराखंड देश के सर्वश्रेष्ठ राज्य की और अग्रसर होने की दिशा मे आगे बढ़ रहा है।